नये भारत का नया प्रदेश उत्तर प्रदेश- योगी

मुख्यमंत्री का जनपद हापुड़ भ्रमण,मुख्यमंत्री ने जनपद हापुड़ में 342 करोड़ रु0 की173 विकास योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास कियाविभिन्न शासकीय योजनाओं के लाभार्थियों को प्रमाण-पत्र प्रदान किएवर्तमान उ0प्र0 नये भारत का नया उ0प्र0 । प्रदेश सरकार सभी के विकास व सभी क्षेत्रों के विकास के लिए कृत संकल्पितउ0प्र0 केन्द्र सरकार की विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन में अग्रणी स्थान परमजबूत कानून व्यवस्था व सुशासन की नीति के कारणप्रदेश में 03 लाख करोड़ रु0 से अधिक का निवेश किया जा चुकाप्रदेश सरकार राज्य में विकास को बढ़ाने, सुरक्षा का वातावरणबनाने व सुशासन के लक्ष्य को प्राप्त करने में लगातार आगे बढ़ रहीउ0प्र0 ‘एक जनपद एक उत्पाद योजना’ व प्रदेश सरकारके समन्वित प्रयासों से एक्सपोर्ट के हब के रूप में विकसित हो रहाआज 01 लाख 21 हजार करोड़ रु0 का निर्यात उ0प्र0 कर रहा।


लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद हापुड़ में 342 करोड़ रुपये की 173 विकास योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। इस अवसर पर उन्होंने जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि जनपद हापुड़ में विकास की इन विभिन्न योजनाओं से लोगों के जीवन में व्यापक परिवर्तन आएगा। उन्होंने कहा कि विकास का कोई विकल्प नहीं है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व व मार्गदर्शन में लोगों के जीवन में खुशहाली व सम्पन्नता लाने के लिए प्रदेश सरकार पूरी ईमानदारी व प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है। जनपद हापुड़ की इन विकास योजनाओं में सड़क, विद्यालय तथा हॉस्पिटल के निर्माण, जल-जीवन मिशन के तहत शुद्ध पेयजल की व्यवस्था, विद्युत सब स्टेशन के निर्माण के साथ ही वेलनेस सेण्टर स्थापित करने जैसे विभिन्न कार्य शामिल हैं। इस अवसर पर उन्होंने विभिन्न शासकीय योजनाओं के लाभार्थियों को प्रमाण-पत्र प्रदान किए।


मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान उत्तर प्रदेश नये भारत का नया उत्तर प्रदेश है, जहां पर विकास और सुशासन की गंगा बह रही है। प्रत्येक नागरिक की सुरक्षा की जिम्मेदारी प्रदेश सरकार की है। प्रदेश सरकार सभी के विकास व सभी क्षेत्रों के विकास के लिए कृत संकल्पित है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में एक भारत श्रेष्ठ भारत के साथ प्रदेश सरकार ने विगत साढ़े चार वर्ष में गांव, गरीब, किसान, महिला, नौजवान, बुजुर्ग, दलित, वंचित के लिए बिना भेदभाव के सभी के समग्र विकास व कल्याण के लिए लगातार कार्य किए हैं। उत्तर प्रदेश केन्द्र सरकार की विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन में अग्रणी स्थान पर है। इन साढ़े चार वर्षाें में प्रदेश की बहन-बेटियां अपने आपको सुरक्षित महसूस कर रही हैं। प्रदेश सरकार द्वारा राज्य को दंगामुक्त प्रदेश बनाने का लक्ष्य पूरा किया गया है। आज प्रदेश में अराजकता, भययुक्त वातावरण नहीं है। दंगा व अराजकता फैलाने तथा सरकारी सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों से नुकसान की भरपाई के सख्त निर्देश पहले ही दिये जा चुके हैं।


प्रदेश की मजबूत कानून व्यवस्था व सुशासन की नीति के कारण प्रदेश में 03 लाख करोड़ रुपये से अधिक का निवेश किया जा चुका है। प्रदेश सरकार ने निवेश को विकास व रोजगार से जोड़ने का कार्य किया है, जिससे प्रदेश के नौजवानों को रोजगार की प्राप्ति हुई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य में विकास को बढ़ाने, सुरक्षा का वातावरण बनाने व सुशासन के लक्ष्य को प्राप्त करने में लगातार आगे बढ़ रही है। उत्तर प्रदेश एक नये मॉडल के रूप में खड़ा हो रहा है। वैश्विक महामारी कोरोना की इस लड़ाई में जनपद वासियों ने शासन का भरपूर सहयोग किया है। इस लड़ाई में सभी जनप्रतिनिधियों ने अपना अमूल्य योगदान प्रदान किया है। लेकिन कोरोना का खतरा अभी टला नहीं है। सभी लोग कोविड प्रोटोकॉल का पूर्णतया पालन करें। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में प्रदेश सरकार ने प्रत्येक व्यक्ति के जीवन व जीविका को बचाने का कार्य किया है। दुनिया में उत्तर प्रदेश के कोरोना प्रबन्धन एवं नियंत्रण मॉडल की सराहना की जा रही है।


योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आस्था हमारी सबसे बड़ी ताकत है। ईश्वर का सच्चा भक्त अनुशासन का पालन करते हुए व्यवस्था में सहयोग करता है। इसी आस्था का सम्मान करते हुए प्रदेश में सभी पर्व व त्योहार शांति व सौहार्दपूर्ण वातावरण में मनाये जा रहे हैं। प्रदेश सरकार ने सभी को सुरक्षा व शांतिपूर्ण माहौल प्रदान किया है। उन्होंने कहा कि हमारी व्यक्तिगत पहचान, व्यक्तिगत उपासना विधि व जातीय पहचान देश से बड़ी नहीं हो सकती। सभी के लिए राष्ट्रधर्म सर्वाेपरि होना चाहिए। राष्ट्र के प्रति श्रद्धा, समर्पण व सम्मान का भाव नितान्त आवश्यक है। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में हमारे देश की पहचान वैश्विक स्तर पर लगातार विकसित हो रही है। उन्होंने कहा कि महापुरुष किसी जाति, मजहब के नहीं होते, बल्कि वे पूरे समाज व राष्ट्र के होते हैं। उनके त्याग व बलिदान के प्रति पूरे समाज की जिम्मेदारी बनती है कि हम इनका सम्मान करें व उनके कार्याें से प्रेरणा लें। उन्होंने कहा कि यह वर्ष देश की आजादी का अमृत महोत्सव वर्ष है। इस महोत्सव के माध्यम से केन्द्र व प्रदेश सरकार देश की आजादी के अमर बलिदानियों को स्मरण करते हुए उनके प्रति अपनी श्रद्धा अर्पित कर रही हैं। आज हमें आत्मावलोकन की आवश्यकता है कि हमने अभी तक क्या किया है और कितनी तेजी से अपनी विकास यात्रा आगे बढ़ानी है, जिससे वैश्विक मंच पर देश की ताकत निरुपित की जा सके।


प्रदेश सरकार की ‘एक जनपद, एक उत्पाद’ योजना से स्वतः स्वावलम्बन का मार्ग प्रशस्त हुआ है। इस योजना द्वारा स्थानीय विशिष्ट उत्पाद संस्कृति को विकसित व स्थानीय उद्यमियों को प्रोत्साहित किया जा रहा है। इस योजना से लाभान्वित प्रत्येक व्यक्ति व स्वयं सहायता समूह आत्मनिर्भरता की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। जनपद हापुड़ के पिलखुआ क्षेत्र के कपड़ा उद्योग की चादर व तौलिया पूरे देश में विख्यात हैं। साथ ही, जनपद हापुड़ के पापड़ व जनपद मेरठ की रेवड़ी का स्वाद जगजाहिर है। पुराने उत्पादों को आगे बढ़ाने की दिशा में लगातार प्रयास करने होंगे। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश ‘एक जनपद एक उत्पाद योजना’ व प्रदेश सरकार के समन्वित प्रयासों से एक्सपोर्ट के हब के रूप में विकसित हो रहा है। आज 01 लाख 21 हजार करोड़ रुपये का निर्यात उत्तर प्रदेश कर रहा है।इस अवसर पर केन्द्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग राज्य मंत्री जनरल (सेवानिवृत्त) वी0के0 सिंह, प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा राज्य मंत्री संदीप सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।