अब अग्निपथ से अग्निवीर का जुमला

“अग्निपथ योजना” नौजवानों के साथ विश्वासघात हैं।इस योजना से पूरे देश में निराशा का माहौल।18 जून को यूपी के समस्त जिला मुख्यालय पर “अग्निपथ योजना” के  विरोध में आंदोलन।02 करोड़ नौकरियों के जुमले के बाद “अग्निपथ से अग्निवीर” का जुमला।

लखनऊ। आम आदमी पार्टी के उत्तर-प्रदेश प्रभारी/राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने आज एक प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से मोदी सरकार पर जोरदार हमला करते हुए “अग्निपथ योजना” को नौजवानों के साथ बहुत बड़ा विश्वासघात बताया। उन्होंने कहा कि 02 करोड़ रोजगार का जुमला, पकौड़ा बेचकर रोजगार का जुमला, गोबर से रोजगार का जुमला देने वालें मोदी जी,  के जुमलों को सच मानकर लंबी-लंबी लाईनों में खड़े होकर देश के नौजवानों ने वोट देकर सरकार बनाने का काम किया और बदले में क्या मिला, वर्षों से सेना में भर्ती होकर देश सेवा का सपना देखने वालों को “अग्निपथ से अग्निवीर” बनने का जुमला। सेना में भर्ती होने के लिये वर्षों की तैयारी और फिर 04 साल की नौकरी और उसके बाद रिटायर्ड होकर बेरोजगारी का ठप्पा। इस योजना से रिटायरमेंट के बाद हताशा मिलेंगी और नौजवानों द्वारा कोई गलत कदम भी उठाया जा सकता हैं या किसी प्राईवेट कंपनी में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी। नरेन्द्र मोदी जी की सरकार ने इस योजना के माध्यम से प्राइवेट कंपनियों को ट्रेन्ड सिक्योरिटी गार्ड का सौगात देने का काम किया हैं।


उन्होंने आगे कहा कि मोदी जी, सेना देश का गौरव हैं आपकी प्राइवेट एजेंसी नहीं जहाँ आप 04 साल की नौकरी देने का ड्रामा कर रहें हैं। संजय जी ने बताया कि इस योजना के विरोध में 18 जून को उत्तर-प्रदेश के सभी जिलों में “अग्निपथ योजना” के विरोध में आंदोलन किया जायेगा।संजय जी ने कहा कि आज इस वजह से पूरे देश में नौजवानों में गहरा आक्रोश हैं, वो सड़कों पर उतरा हुआ हैं, उनकी उम्मीदों को एक झटके में मोदी जी ने चकनाचूर कर दिया। नौजवानों का कहना हैं कि ” नौकरी दे दो या अर्थी दे दो”। हताशा के इस माहौल में लोग अपने माँ-बाप को चिट्ठी लिखकर आत्महत्या कर रहें हैं।  मैं इस विज्ञप्ति के माध्यम से नौजवानों से कहना चाहता हूं कि अपने भविष्य के बारे में सोचिये, ये जुमलेबाजी करने वाले लोग आपके भविष्य के साथ खिलवाड़ कर सकते हैं पर आपको नौकरी नहीं दे सकते। मोदी जी के इस योजना से सेना के गौरव के घटने का भी अंदेशा हैं क्योकि जो 04 साल की नौकरी के लिये जायेगा उसमें देश प्रेम का वो भाव  और निष्ठा नहीं आ सकता, क्योंकि 25% को आगे परमानेंट करने का जो प्रावधान हैं, अंदेशा हैं कि नौजवानों की ऊर्जा अफसरों को खुश करने में ज्यादा लगेगा। मोदी जी ने देश की सुरक्षा, देश प्रेम को कम करने का काम किया हैं, बेरोजगारों के पेट और पीठ पर लात मारने का काम किया हैं। इस फैसले को देश के इतिहास में काले अक्षरों में लिखा जायेगा। देश के करोड़ों नौजवान नरेंद्र मोदी जी को कभी माफ नहीं करेंगे, क्योंकि इन्हीं नौजवानों ने मोदी जी को अपने कंधे पर बैठाकर 2014 और 2019 में सत्ता के शिखर पर पहुचाने का काम किया और बदलें में मोदी सरकार ने रोजगार के नाम पर बार-बार धोखा देने का कार्य किया हैं।