“वन रैंक वन पेंशन” से “नो रैंक नो पेंशन” तक का सफर है अग्निपथ….!

सेना की तैयारी करने वाले युवाओं के अरमानों को तोड़ने का कार्य कर रही है केंद्र सरकार।”वन रैंक वन पेंशन” से “नो रैंक नो पेंशन” तक का सफर है अग्निपथ!– वंश राज दुबे

लखनऊ। आम आदमी पार्टी के छात्र विंग(CYSS) के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष वंशराज दुबे ने केंद्र सरकार पर जोरदार हमला बोलते हुए लखनऊ में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि आज जब देश भर में बेरोजगारी नित्य नये रिकार्ड बना रहीं हैं, युवाओं को नौकरी के लिये दर-दर की ठोकर खाना पड़ रहा हैं, देश की नीतियों से परेशान नौजवानों को मोदी सरकार की “अग्निपथ योजना” ने हतप्रभ कर दिया।


“वन रैंक वन पेंशन” से “नो रैंक नो पेंशन” तक का सफर है अग्निपथ। देश भर में सेना में भर्ती होकर देश सेवा का अरमान लिये वर्षों से कड़ी तैयारी कर रहें, भर्ती का इंतजार कर रहें नौजवानों को उस समय जोरदार झटका लगा जब मोदी सरकार के तुगलकी फरमान ने  कहा कि अब केवल चार साल ही नौकरी मिलेगी, कोई पेंशन नहीं मिलेगा और 25 साल में ही रिटायर्ड का दंश झेलना पड़ेगा, जिसने देश में निराशा का माहौल बना दिया ।

    वंशराज दुबे ने मोदी सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा रात को सपना देखकर, सुबह योजना बनाने वाली केंद्र की मोदी सरकार ने इसके पहले भी नोटबन्दी और तीन काले कृषि कानून बना कर देशभर में अफरा-तफरी का माहौल पैदा कर दिया था।उन्होंने कहा कि सेना की नौकरी ऐसी नही है कि इसमें लंबी अवधि तक काम किया जाए। लंबी अवधि तक वेतन हासिल किया जाए। जब सेना की नौकरी समाप्त हो जाती है तो घर चलाने का सहारा पेंशन ही होता है।उन्होंने आगे कहा कि चार साल के कार्यकाल में जब अग्निवीर देश के सेवा के लिए मैच्योर होंगे तो उनमें से 75% को बाहर का रास्ता दिखा दिया जाएगा।उन्होंने कहा कि जो नौजवान 25 साल की उम्र में सेना से सेवानिवृत्त हो जाएगा, नरेंद्र मोदी जी उसके हाथ में सिर्फ़ कटोरा देने का काम करेंगे। एक तरफ़ 12वीं की डिग्री उसके हाथ में होगी, दूसरी तरफ़ बेरोजगारी का ठप्पा उसके ऊपर लगा होगा।