UP में जंगलराज की पराकाष्ठा-अजय राय

25
दुर्दशा पर मौन मोदी सरकार-अजय राय
दुर्दशा पर मौन मोदी सरकार-अजय राय

सिपाही द्वारा शिक्षक की हत्या उत्तर प्रदेश में जंगलराज की पराकाष्ठा। उत्तर प्रदेश में ध्वस्त कानून व्यवस्था की जिम्मेदार लेते हुए इस्तीफा दें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ। UP में जंगलराज की पराकाष्ठा-अजय राय

लखनऊ।
जनपद मुजफ्फरनगर में जिस तरह नशे में धुत सिपाही ने शिक्षक की अपनी सरकारी कार्बाइन से हत्या की है वह यह इशारा करता है कि प्रदेश में कानून का डर पूरी तरह से खत्म हो चुका है। अपराधी तो अपराधी अब तो रक्षक ही हत्यारे बन चुके हैं। अजय राय ने जार बयान में कहा कि मुख्यमंत्री सिर्फ गाल बजाना जानते हैं। उनकी जीरो टॉलरेंस की नीति पूरी तरह से विफल हो चुकी है। चारों तरफ सिर्फ अव्यवस्था, अराजकता और अपराध का बोलबाला है। इस प्रदेश में शायद ही कोई दिन गुजरता है जब कोई बड़ी आपराधिक घटना न घटती हो। श्री राय ने कहा कि अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हुए सरस्वती पुत्र की हत्या न सिर्फ विफल कानून व्यवस्था की तरफ इशारा है बल्कि बोर्ड परीक्षाओं में व्याप्त अराजकता और अव्यवस्था का भी सच बताती है। तमाम सुधारों का दावा करने वाली सरकार आज तक बोर्ड परीक्षाओं की कॉपियों के वितरण का कोई पुख्ता इंतजाम नहीं करा पाई है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री राय ने कहा कि सिर्फ पिछले दो दिनों की बात करें तो पीलीभीत में ऑनर किलिंग, सीतापुर में युवक की हत्या, आगरा में नाबालिग किशोरी के साथ दुष्कर्म, बिजनौर में महिला की सिर काटकर हत्या जैसे जघन्य प्रदेश की कानून व्यवस्था के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ झूठे दावों के मुंह पर तमाचा है। उत्तर प्रदेश अपराध प्रदेश बन चुका है। आम जनता सहमी और पूरी तरह से डरी हुर्ह है और राजा चैन की बंशी बजा रहा है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पूर्व मंत्री अजय राय ने कहा कि उत्तर प्रदेश में ध्वस्त कानून व्यवस्था की जिम्मेदार लेते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी को तत्काल अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। UP में जंगलराज की पराकाष्ठा-अजय राय