अतीत और भविष्य का अहसास है आजादी का अमृत महोत्सव

20

अतीत और भविष्य का अहसास कराने के लिए है आजादी का अमृत महोत्सव।

उत्तर प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष सतीश महाना ने अमृत महोत्सव के अवसर पर अपने निर्वाचन क्षेत्र जनपद कानपुर में तिरंगा यात्रा निकाल कर कहा कि आजादी का अमृत महोत्सव हमें यह अवसर देता है कि हम अपने भविष्य को ध्यान में रखते हुए अपने इतिहास को और भी करीब से जाने, क्योंकि जब आप आजादी के संघर्ष के बारे में पढ़ेंगे और उसे करीब से जानने का प्रयास करेंगे तो आपको पता लगेगा कि भारत ने कैसे-कैसे वीरों को जन्म दिया है । और उन लोगों में इतना आत्मविश्वास था, और देश को लेकर इतना प्रेम था कि वह अपने प्राण भी त्याग करने को तैयार थे ।


विधान सभा अध्यक्ष ने कहा कि आजादी का अमृत महोत्सव एक स्वतंत्रता का उत्सव है जो हर 25 साल में मनाया जाता है, ताकि हमारी आज की पीढ़ी के बच्चे यह जान सकें कि भारत को आजादी दिलाने के लिए स्वतंत्रता सेनानियों को कितने संघर्षों और कठिनाइयों का सामना करना पड़ा था।श्री महाना ने कहा कि किसी भी देश का भविष्य तभी उज्ज्वल होता है जब वह अपने पिछले अनुभवों और विरासत के गौरव के साथ पल-पल जुड़ा रहता है। हम सभी जानते हैं कि भारत के पास एक समृद्ध ऐतिहासिक चेतना और सांस्कृतिक विरासत का अथाह भंडार है जिस पर हमें गर्व होना चाहिए।