ऑनलाइन शिक्षण के वेवनार

ऑनलाइन शिक्षण के  वेवनार कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश विधान सभा के अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने कहा कि मैं इस आशा और  विश्वास से भरे शिक्षक साथियों को संबोधित करते हुए आश्वस्त हूं कि वैश्विक महामारी कोरोना के इस काल में नया भारत आकार ले रहा जिसमें शिक्षक समुदाय की  महती भूमिका उभर रही है। शिक्षकों से मार्गदर्शन और समर्थन के साथ भारत अपने लक्ष्य पर पहुंच पायेगां। निश्चित ही तकनीकी कौशल  और उभरती नई-नई शिक्षा  योजनाएं एवं पाठ्यक्रम नवाचारों की मांग करते है लेकिन भारत की निरन्तरता और भारतीयता के मूल्य जिस सनातन समन्वय से अक्षुण्य बन रहा है शिक्षक के  कारण ही संभव हुआ है।

दुनियां भले बहुत आधुनिक हो जाय पर जो शाश्वत है सत्य है  और सनातन है वहीं भारत के  लिए सत्यम् शिवम् सुन्दरम् रहा है। वही हमारा ध्येय है और अंतिम लक्ष्य भी। आख्यान हमारी आदि परम्परा  रही है। आज ऑनलाइन शिक्षण में वह विधि केन्द्रीय भूमिका में हैं। मै आप सबकों शुभकामनाओं के साथ उसी राष्ट्रीय भूमिका में देखने के लिए प्रतिक्षारत हूं जो भारतीय शिक्षक की परम्परा रही है। 

          गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय के इस वेवनार कार्यक्रम में कुलपति, प्रोफेसर भगवती प्रकाश  शर्मा, प्रोफेसर श्वेता आनंद, डीन  एकेडमिक्स डॉ विनोद शनवाल,  पाठ्यक्रम निदेशक और शिक्षा विभाग के विभागाध्यक्ष सभी डीन, संकाय सदस्य, के साथ-साथ संकाय के सभी प्रतिनिधियों प्रतिभाग किया।