स्वास्थ्य विभाग में इस्तेमाल होगी एआई तकनीक-ब्रजेश पाठक

95
स्वास्थ्य विभाग में इस्तेमाल होगी एआई तकनीक-ब्रजेश पाठक
स्वास्थ्य विभाग में इस्तेमाल होगी एआई तकनीक-ब्रजेश पाठक
मधु पांडेय
मधु पांडेय

स्वास्थ्य विभाग में इस्तेमाल होगी एआई तकनीक। टेली मेडिसिन सेवाओं में सुधार, गर्भवती महिलाओं को निःशुल्क अल्ट्रासाउंड सुविधा को लेकर एमओयू साइन। उप मुख्यमंत्री की उपस्थिति में आईआईटी कानपुर, एसबीआई और फिक्की के साथ समझौता पत्र हुए हस्ताक्षरित। स्वास्थ्य विभाग में इस्तेमाल होगी एआई तकनीक-ब्रजेश पाठक

लखनऊ। आमजन को गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने की दिशा में सोमवार को स्वास्थ्य विभाग की ओर से तीन एमओयू साइन किए गए। उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने कानपुर के भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया और फिक्की से साथ इन समझौता पत्रों को हस्ताक्षरित किया। एनेक्सी सभागार में सोमवार को आयोजित समझौता ज्ञापन विनिमय समारोह में बतौर मुख्य अतिथि उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने कहा कि इन समझौता पत्रों में कई महत्वपूर्ण विषयों को लेकर सहमति बनी है। इनमें टेली मेडिकल सेवाओं में सुधार, एआई तकनीकि का इस्तेमाल, गर्भवती महिलाओं को निःशुल्क अल्ट्रासाउंड सुविधा सहित कई अन्य बिंदु शामिल हैं।


उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने बताया कि भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, कानपुर के साथ हस्ताक्षरित एमओयू में टेली मेडिसिन सेवाओं की गुणवत्ता में सुधार, चिकित्सा स्वास्थ्य के क्षेत्र में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आधारित सॉल्यूशंस, विभिन्न कार्यक्रमों में सुधार हेतु पॉइंट ऑफ केयर डायग्नोस्टिक्स, जन स्वास्थ्य गतिविधियों हेतु डाटा आधारित डिसीजन मेकिंग फ्रेकवर्क एवं कार्यक्रम विशेष के लिए आपसी सहयोग के साथ कार्ययोजना शामिल हैं। वहीं, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के साथ हस्ताक्षरित एमओयू में प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस पर इम्पैनल्ड निजी अल्ट्रासाउंड केंद्रों के माध्यम से गर्भवती महिलाओं को निःशुल्क अल्ट्रासाउंड सुविधा उपलब्ध कराने हेतु डिजीटल इंटरफेस ई-रूपी वाउचर का प्रभावी प्रयोग शामिल है। फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) के साथ हस्ताक्षरित एमओयू में स्मार्ट आयुष्मान आरोग्य मंदिरों का विकास, टेली कंसल्टेशन सुविधाओं की गुणवत्ता में सुधार, रोग निदान हेतु हब एवं स्पोक मॉडल में सहयोग प्रदान करना, डीवीडीएमएस पोर्टल का प्रभावी उपयोग और समुदाय आधारित प्लेटफॉर्म को सुदृढ़ करना शामिल किया गया है। कार्यक्रम में राज्यमंत्री मयंकेश्वर शरण सिंह, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य पार्थसारथी सेन शर्मा सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद रहे। स्वास्थ्य विभाग में इस्तेमाल होगी एआई तकनीक-ब्रजेश पाठक