एमएस स्वामीनाथन,नरसिम्हा राव और चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न

27
एमएस स्वामीनाथन,नरसिम्हा राव और चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न
एमएस स्वामीनाथन,नरसिम्हा राव और चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न

प्रधानमंत्री ने देश के दलित, पिछड़ों व किसानों का सम्मान किया-अनुप्रिया पटेल

वर्ष 2024 में पांच विशिष्ट जनों को भारत रत्न देने की घोषणा की गयी है। बिहार से कर्पूरी ठाकुर, भाजपा के लाल कृष्ण आडवाणी से आगे शुक्रवार को तीन और राजनैतिक विभूतियों को भारत रत्न की केंद्र द्वारा घोषणा की गयी : पी वी नरसिंह राव, चौधरी चरण सिंह और एम एस स्वामीनाथन। एमएस स्वामीनाथन,नरसिम्हा राव और चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश की तीन महान  विभूतियों किसानों के मसीहा पूर्व प्रधानमंत्री चौ. चरण सिंह, हरित क्रांति के जनक एमएस स्वामीनाथन और पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव को भारत रत्न देने की घोषणा पर अपना दल एस की राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने पार्टी की तरफ से यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा है कि प्रधानमंत्री जी द्वारा तीनों विभूतियों को देश के सर्वोच्च सम्मान से अलंकृत करने की घोषणा तीनों विभूतियों को सच्ची श्रद्धांजलि है।

केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने कहा है,” भारतीय राजनीति में गांव—किसानों की सशक्त आवाज रहे श्रद्धेय चौधरी चरण सिंह, हरित क्रांति के प्रणेता आदरणीय एमएस स्वामीनाथन और देश में आर्थिक सुधारों के जनक पूर्व प्रधानमंत्री स्व. नरसिम्हा राव को मरोणापरांत देश का सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न देने के लिए माननीय प्रधानमंत्री जी का हार्दिक आभार। तीनों महान शख्सियतों ने अपनी विद्वता और सेवा से देश को गौरवान्वित किया। किसानों के मसीहा श्रद्धेय सिंह ने हमेशा राजनीति में दबे—कुचले और विकास वर्ग के हित की राजनीति की। स्वामीनाथन जी के अगुवाई में हुई हरित क्रांति ने देश को अन्न के मामले में आत्मनिर्भर बनाया, वहीं राव साहब के नेतृत्व में रखी गई आर्थिक सुधारों की नींव से भारतीय अर्थव्यवस्था ने सकारात्मक रूप से नई करवट ली।

मोदी सरकार का यह सौभाग्य है कि देश के पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह जी को भारत रत्न से सम्मानित किया जा रहा है। यह सम्मान देश के लिए उनके अतुलनीय योगदान को समर्पित है। उन्होंने किसानों के अधिकार और उनके कल्याण के लिए अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया था।देश में हरित क्रांति के जनक कहने जाने वाले एमएस स्वामीनाथन को भी भारत रत्न देने का एलान किया गया है। पीएम ने पोस्ट में लिखा कि भारत सरकार कृषि और किसानों के कल्याण में हमारे देश में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए डॉ. एमएस स्वामीनाथन जी को भारत रत्न से सम्मानित कर रही है।नरसिम्हा राव ने एक प्रतिष्ठित विद्वान और राजनेता के रूप में विभिन्न क्षमताओं में भारत की बड़े पैमाने पर सेवा की। पीएम ने ये भी लिखा कि प्रधानमंत्री के रूप में नरसिम्हा राव का कार्यकाल महत्वपूर्ण उपायों के लिए याद किया जाएगा। उनके कार्यकाल में भारत को वैश्विक बाजारों के लिए खोल दिया गया था, जिससे आर्थिक विकास के एक नए युग को बढ़ावा मिला।

पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न देने की घोषणा पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा, “बहुत बधाई और चौधरी चरण सिंह के लिए भारत रत्न की मांग समाजवादी पार्टी ने सदैव की थी। जितने भी लोगों को भारत रत्न मिला है। मैं उनको बहुत बधाई और शुभकामनाएं देता हूं।”


पद्म पुरस्कारों से ले कर सर्वोच्च सम्मान तक, माननीय प्रधानमंत्रीजी की अगुवाई में हमारी सरकार ने हमेशा योग्य व्यक्तित्वों और महान शख्सियतों का चयन किया है। ऐसी शख्यिसत जिनकी सेवा और उपलब्धियों ने नए इतिहास की रचना के साथ भविष्य की उम्मीदों की नींव रखी। इससे पहले हमारी सरकार ने सामाजिक न्याय की राजनीति के मसीहा जननायक कर्पुरी ठाकुर जी को सर्वोच्च सम्मान दे कर देश को सही अर्थों में गौरवान्वित किया। मैं सर्वोच्च सम्मान के लिए महान शख्सियतों के चयन के लिए प्रधानमंत्री का आभार जताती हूं।”

केंद्रीय गृह मंत्रालय के अनुसार एक साल में अधिकतम तीन लोगों को ही भारत रत्न से सम्मानित किया जा सकता है। हालांकि इस साल 2024 में भारत रत्न के लिए पांच लोगों के नाम की घोषणा की गई है। ऐसे में अब सरकार ने नियमों में कुछ बदलाव किए हैं या फिर इन 5 हस्तियों में से कुछ को 2024 से पहले के किसी वर्ष में सम्मानित करने का फैसला किया है, ये फिलहाल स्पष्ट नहीं है।

बता दे कि अनुप्रिया पटेल जी अपना दल की तरफ से जननायक कर्पूरी ठाकुर जी एवं श्रद्धेय चौ. चरण सिंह जी को भारत रत्न देने की मांग पिछले लंबे समय से करती रही हैं। इस बाबत उन्होंने केंद्र सरकार को पत्र भी लिखा था। देश के किसानों, पिछड़ों व वंचितों को विकास की मुख्य धारा से जोड़ने के लिए उत्कृष्ट एवं सराहनीय कार्य करने वाले इन महापुरुषों को देश के सर्वोच्च सम्मान से नवाजे जाने की घोषणा से दलित, पिछड़ों व किसानों का सम्मान व स्वाभिमान बढ़ा है।

लोकदल की मांग से किसान मसीहा चौधरी चरण सिंह को मिला भारत रत्न। आज सरकार को किसानों के मसीहा नेता के आगे झुकना पड़ा-चौधरी सुनील सिंह

आज प्रधानमंत्री द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न दिए जाने पर लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी सुनील सिंह जी ने प्रधानमंत्री को धन्यवाद दिया है श्री सिंह ने कहा है कि चौधरी साहब किसानों के मसीहा थे।लोकदल ही है, जो चौ. चरण सिंह की नीतियों पर चलता रहा है,जिसके वजह से आज यह भारत रत्न का सम्मान मिला। किसान गरीबों नौजवानों की आवाज चौधरी चरण सिंह जी को भारत रत्न देने के लिए लोकदल के कार्यकर्ता और साथ खड़े लाखो किसानों को कोटि-कोटि धन्यवाद दिया है।जिसके वजह से आज सरकार को किसानों के नेता चौधरी चरण सिंह को सम्मान देकर झुकना पड़ा।यह किसानों की जीत है।जिसे इस ताकत को आज सरकार को एहसास दिला दिया है।

केंद्र सरकार ने साल 2024 की शुरुआत में ही कर्पूरी ठाकुर, लालकृष्ण आडवाणी , पूर्व पीएम नरसिम्हा राव, चौधरी चरण सिंह और वैज्ञानिक एमएस स्वामीनाथन को भारत रत्न देने का ऐलान किया है। कुल मिलाकर अभी तक इस साल में पांच हस्तियों को भारत रत्न से सम्मानित करने की घोषणा की गई है। भारत रत्न की घोषणा होते ही सोशल मीडिया पर बधाई देने तांता लग गया। बधाईयों और शुभकामनाओं के बीच कुछ लोग एक साल में 5 लोगों को भारत रत्न देने पर सवाल उठा रहे हैं ? एमएस स्वामीनाथन,नरसिम्हा राव और चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न