सीबीआई ने शुरू की सीओ जियाउल हक हत्याकांड की जांच

140
सीबीआई ने शुरू की सीओ जियाउल हक हत्याकांड की जांच
सीबीआई ने शुरू की सीओ जियाउल हक हत्याकांड की जांच

विनोद यादव

प्रतापगढ़। कुंडा के सीओ रहे जिया उल हक की हत्या की जांच सीबीआई ने फिर शुरू कर दी है। सीबीआई अधिकारियों की एक टीम प्रतापगढ़ पहुंची है। पुलिस लाइंस के गेस्ट हाउस में आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।घटना के समय सीओ को मौके पर छोड़कर भागे हथिगवां थाने के तत्कालीन थानाध्यक्ष मनोज शुक्ला से सीबीआई पूछताछ कर रही है। इस हत्याकांड में कुंडा के विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजाभैया, एमएलसी अक्षय प्रताप सिंह उर्फ गोपालजी समेत पांच लोग आरोपी बनाए गए हैं।सीओ जियाउल हक हत्याकांड के मामले में पूछताछ के लिए सीबीआई अधिकारियों की टीम बृहस्पतिवार को प्रतापगढ़ पुलिस लाइन स्थित गेस्ट हाउस पहुंच गई। सबसे पहले हत्याकांड के समय सीओ को छोड़कर भागने वाले हथिगवां थानाध्यक्ष मनोज शुक्ला को सीबीआई ने पूछताछ के लिए बुलाया है।

आधे घंटे से उनसे पूछताछ जारी है। पूछताछ के लिए सीबीआई ने विवेचक को भी तलब किया है। सीबीआई ने इस मामले में पूछताछ के लिए कई अफसरों और आरोपियों की सूची तैयार की है।दो मार्च 2013 को हुई थी सीओ जियाउल हक की हत्या।माना जा रहा है कि विधायक राजाभैया और उनके करीबी एमएलसी गोपाल सिंह से भी पूछताछ की जा सकती है। इस मामले में कभी राजाभैया के बेहद करीबी रहे गुलशन यादव भी नामजद हैं। इस समय गुलशन यादव की राजाभैया से अदावत चल रही है। सपा ने गुलशन यादव को 2022 के विधानसभा चुनाव में राजाभैया के खिलाफ मैदान में उतारा था। कड़ी टक्कर में गुलशन यादव पराजित हो गए थे। बता दें कि सीओ जियाउल हक की हत्या हथिगवां थाना क्षेत्र के बलीपुर में दो मार्च 2013 को हुई थी। सीबीआई ने शुरू की सीओ जियाउल हक हत्याकांड की जांच