मुख्यमंत्री ने गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना के प्रस्तावित शिलान्यास कार्यक्रम का स्थलीय निरीक्षण किया

मुख्यमंत्री ने 18 दिसम्बर को जनपद शाहजहांपुर में प्रधानमंत्री के गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना के प्रस्तावित शिलान्यास कार्यक्रम के सम्बन्ध में स्थलीय निरीक्षण किया।मुख्यमंत्री ने शिलान्यास के लिए की जा रही तैयारियों के सम्बन्ध में जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की।गंगा एक्सप्रेस-वे एक महत्वाकांक्षी परियोजना, इसके निर्माण से विकास की अपार सम्भावनाएं तथा रोजगार के व्यापक अवसर उपलब्ध होंगे।गंगा एक्सप्रेस-वे की लम्बाई लगभग 600 किलोमीटर तथा चौड़ाई 06-लेन(08-लेन विस्तारणीय) होगी, परियोजना की लागत 36 हजार करोड़ रु0,एक्सप्रेस-वे पर जगह-जगह पेट्रोल पम्प, ढाबे, ट्रॉमा सेण्टरसहित जनता से जुड़ी हुई विभिन्न सुविधाएं दी जाएंगी।प्रयास होगा कि कुछ महत्वपूर्ण स्थलों पर हेलीपोर्ट की भी व्यवस्था की जाए।अलग-अलग जनपदों में औद्योगिक क्लस्टर विकसित किए जाएंगे।जनपद शाहजहांपुर में हवाई पट्टी का निर्माण किया जाएगा।शिलान्यास कार्यक्रम स्थल में पार्किंग, पेयजल, टॉयलेट तथा पब्लिक एड्रेस सिस्टम की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित की जाए,कार्यक्रम स्थल तक लोगों को आवागमन मेंकिसी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पड़े। जनपद शाहजहांपुर, हरदोई, बदायूं की नगर पंचायतों एवंग्राम पंचायतों में विशेष स्वच्छता अभियान चलाने के निर्देश।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगामी 18 दिसम्बर, 2021 को जनपद शाहजहांपुर, रौजा रेलवे मैदान में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना के प्रस्तावित शिलान्यास कार्यक्रम के सम्बन्ध में स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंने शिलान्यास के लिए की जा रही तैयारियों के सम्बन्ध में जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक भी की।यह शिलान्यास कार्यक्रम उत्तर प्रदेश का एक विशाल आयोजन है। गंगा एक्सप्रेस-वे एक महत्वाकांक्षी परियोजना है। इसके निर्माण से विकास की अपार सम्भावनाएं सृजित होंगी और रोजगार के व्यापक अवसर उपलब्ध होंगे। यह एक्सप्रेस-वे जनपद मेरठ से हापुड़, बुलन्दशहर, अमरोहा, सम्भल, बदायूं, शाहजहांपुर, हरदोई, उन्नाव, रायबरेली, प्रतापगढ़ से होते हुए प्रयागराज तक जाएगा। इसकी लम्बाई लगभग 600 किलोमीटर तथा चौड़ाई 06-लेन (08-लेन विस्तारणीय) होगी। परियोजना की लागत 36 हजार करोड़ रुपये है। गंगा एक्सप्रेस-वे के निर्माण हेतु 96 प्रतिशत भूमि अधिग्रहीत की जा चुकी है। एक्सप्रेस-वे पर जगह-जगह पेट्रोल पम्प, ढाबे, ट्रॉमा सेण्टर सहित जनता से जुड़ी हुई विभिन्न सुविधाएं दी जाएंगी। हमारा प्रयास होगा कि कुछ महत्वपूर्ण स्थलों पर हेलीपोर्ट की भी व्यवस्था की जाए। अलग-अलग जनपदों में औद्योगिक क्लस्टर विकसित किए जाएंगे। जनपद शाहजहांपुर में हवाई पट्टी का निर्माण किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि शिलान्यास कार्यक्रम स्थल में पार्किंग, पेयजल, टॉयलेट तथा पब्लिक एड्रेस सिस्टम की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। जनपद शाहजहांपुर सहित कार्यक्रम स्थल की साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाए। कार्यक्रम स्थल तक लोगों को आवागमन में किसी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पड़े। ट्रैफिक व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त हो।जनपद शाहजहांपुर, हरदोई, बदायूं की नगर पंचायतों एवं ग्राम पंचायतों में विशेष स्वच्छता अभियान चलाने के निर्देश देते हुए कहा कि जनप्रतिनिधिगण की सहभागिता और निर्देशन में स्वच्छता अभियान संचालित किया जाए। उन्होंने 05 दिवसीय विशेष स्वच्छता अभियान चलाने के निर्देश दिए।इस अवसर पर वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना, प्राविधिक शिक्षा मंत्री जितिन प्रसाद सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।