औद्योगिक क्षेत्रो में प्रतिमाह रोजगार मेला कराये जाने की योजना-निदेशक

प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रो में क्लस्टर एप्रोच अपनाते हुए सभी मण्डल मुख्यालयों एव नोएडा व गाजियाबाद जैसे औद्योगिक क्षेत्रो में वृहद रोजगार मेला प्रतिमाह कराये जाने की योजना बनायी गयी। माह मई 2022 मे संचालित करने हेतु प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रो को 20 क्लस्टर मे बाटकर कार्ययोजना हुई तैयार। वृहद रोजगार मेला के सम्बन्ध मे वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से समस्त सहायक निदेशक (सेवायोजन) तथा संयुक्त निदेशक (प्रशिक्षण) को निर्देश दिए गए।

रोजगार मेलों का उद्देश्य रोजगार बाजार में उपलब्ध अवसरों के अनुरूप जनशक्ति को आन लाईन एवं पारदर्शी प्लेटफार्म उपलब्ध कराना तथा निजी क्षेत्र के नियोजकों एवं बेरोजगार अभ्यर्थियों को एक स्थान पर आमंत्रित कर रोजगार के अवसर उपलब्ध कराना है। उन्होंने बताया कि इसके लिए प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रो में क्लस्टर एप्रोच अपनाते हुए सभी मण्डल मुख्यालयों एव नोएडा व गाजियाबाद जैसे औद्योगिक क्षेत्रो में वृहद रोजगार मेला प्रतिमाह कराये जाने की योजना बनायी गयी है।निदेशक, प्रशिक्षण एवं सेवायोजन हरिकेश चौरसिया ने आत्मनिर्भर भारत के निर्माण के संकल्प हेतु वृहद रोजगार मेलों के आयोजन के संबंध में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से समस्त सहायक निदेशक (सेवायोजन) तथा संयुक्त निदेशक (प्रशिक्षण) को निर्देश दिए है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में युवाओं को रोजगार/स्वरोजगार से जोडकर ‘आत्म निर्भर भारत’ अभियान को सफल बनाना तथा ‘हर हाथ को काम’ सरकार की प्राथमिकताओं में है। सरकार के संकल्प पत्र में युवाओं को रोजगार’ पर विशेष बल दिया गया है।

निदेशक, प्रशिक्षण एवं सेवायोजन ने बताया कि वृहद मेलों का सफल आयोजन माह मई 2022 मे संचालित करने हेतु प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रो को 20 क्लस्टर मे बाटकर कार्ययोजना तैयार की गयी है। उन्होंने निर्देश दिए कि माह मई में ग्रीष्म ऋतु के दृष्टिगत रोजगार मेलों के आयोजन में जॉबसीकर व आगन्तुकों के लिए यथा आवश्यक बी०एम०एफ0 आधारभूत सुविधा यथा स्वच्छ पेयजल, मोबाइल शौचालय, साफ सफाई इत्यादि तथा कोविड प्रोटोकाल का विशेष ध्यान रखा जाए। उन्होंने कहा कि रोजगार हेतु इच्छुक युवाओं को रोजगार /स्वरोजगार से जोड़ने के लिए कंपनियों /नियोजकों से वार्ता करके, इच्छुक युवाओं को संदेश क्षेत्रीय /जनपदीय जनप्रतिनिधियों का सहयोग व मार्गदर्शन लेकर स्थानीय उद्यमियों के सहयोग से स्थानीय जनपद प्रशासन की सहभागिता के साथ गुणवत्तापूर्वक रोजगार मेलों का आयोजन सुनिश्चित कराए। उन्होंने निर्देश दिए कि जनपद एवं मण्डल स्तर पर रोजगार मेले के सम्बन्ध मे जिला प्रशासन के साथ बैठक सुनिश्चित कर ली जाए।