मुलायम सिंह के साथ समाजवाद युग का अंत

147
सपा संस्थापक नेता जी मुलायम सिंह यादव की प्रथम पुण्यतिथि
सपा संस्थापक नेता जी मुलायम सिंह यादव की प्रथम पुण्यतिथि

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद ने मुलायम सिंह के निधन पर शोक व्यक्त किया। मुलायम सिंह के साथ समाजवाद युग का अंत।  मुलायम सिंह ने कर्मचारी हित में लिए कई बड़े फैसले।  सेवानिवृत्त कर्मचारियों को बैंक से पेंशन देने एवं कर्मचारियों के 50% महंगाई भत्ता मर्जर जैसे निर्णय मुलायम सिंह के मुख्यमंत्रित्व काल में ही हुए। संयुक्त परिषद के अध्यक्ष जे एन तिवारी कल अंत्येष्टि में शामिल होंगे। 

अजय सिंह

लखनऊ।  देश के कद्दावर नेताओं में शुमार एवं धरतीपुत्र के नाम से मशहूर उत्तर प्रदेश के तीन बार मुख्यमंत्री रह चुके मुलायम सिंह यादव का निधन समाजवाद को बहुत बड़ा झटका है। मुलायम सिंह जी के निधन के साथ समाजवाद को आगे बढ़ाने वाले युग का अंत नजर आ रहा है। मुलायम सिंह दलितों, पिछड़ों की आवाज थे। उन्होंने अपने मुख्यमंत्रित्व काल में कई अहम फैसले लिए थे। 

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष जे एन तिवारी ने मुलायम सिंह के निधन पर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए अवगत कराया है कि मुलायम सिंह जी से उनके व्यक्तिगत संबंध थे। मुलायम सिंह जब 1982 से 87 के बीच नेता प्रतिपक्ष थे, उस समय बलरामपुर अस्पताल में तैनाती के दौरान उनसे मुलाकात हुई थी। तब से उनसे संबंध बराबर बरकरार रहा।

जे एन तिवारी ने अवगत कराया है कि सेवानिवृत्त कर्मचारियों को बैंक से पेंशन दिलाने का महत्वपूर्ण निर्णय मुलायम सिंह जी ने अपने मुख्यमंत्रित्व काल में किया था। उसके पूर्व ट्रेजरी से पेंशन मिलती थी और सेवानिवृत्त कर्मचारी पेंशन के लिए सुबह से शाम तक इंतजार करता था। कर्मचारियों की पेंशन खाते में जमा करने का निर्णय मुलायम सिंह यादव ने ही किया था।  पांचवें वेतन आयोग में 50% महंगाई भत्ते को मूल वेतन में मर्ज करने का निर्णय भी मुलायम सिंह ने 2004 में  लिया था। 1996 तक के कर्मचारियों के विनियमितीकरण का निर्णय भी मुलायम सिंह जी ने ही किया था। मुलायम सिंह जी के मुख्यमंत्रित्व काल में कर्मचारी संगठन आंदोलन भी बहुत करते थे और कर्मचारी संगठनों के साथ लगातार संवाद भी होता था और उनकी समस्याओं का निराकरण भी होता था। 2001 तक के कर्मचारियों के नियमितीकरण का निर्णय 2010 में मायावती की सरकार में जरूर हुआ था लेकिन उसकी नियमावली भी 2016 में अखिलेश के कार्य काल में जारी की गई थी।

 राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष जे एन तिवारी ने मुलायम सिंह जी के निधन को देश और समाज के लिए तो अपूरणीय क्षति बताया ही है, उन्होंने कहा है इससे कर्मचारी समाज का भी बहुत बड़ा नुकसान हुआ है।संयुक्त परिषद के अध्यक्ष जे एन तिवारी ने अवगत कराया है कि कल मुलायम सिंह जी के अंतिम संस्कार में  वह सैफई जाएंगे एवम् संयुक्त परिषद की तरफ से श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे। संयुक्त परिषद की तरफ से आज अध्यक्ष जे एन तिवारी के अलावा महामंत्री निरंजन कुमार श्रीवास्तव, उपाध्यक्ष नारायण जी दुबे, ओम प्रकाश पांडे, टी एन चौरसिया, संयुक्त सचिव अरुणा शुक्ला संगठन मंत्री राजेश श्रीवास्तव, हेमंत पाठक, अखिलेश सिंह, अर्पणा अवस्थी सहित संयुक्त परिषद के कई वरिष्ठ नेताओं ने श्रद्धांजलि दिया है ।