GIS से 9 लाख रोजगार

158

GIS से 9 लाख रोजगार

यूपीसीडा को 53 जिलों, 10 राज्यों और 4 देशों से मिला बड़ा निवेश, 9 लाख मिलेंगे रोजगार। 4 देशों से 90 हजार करोड़ का आएगा निवेश, 38 हजार लोगों को रोजगार की संभावना।10 राज्यों से 1.53 लाख करोड़ के हो चुके हैं एमओयू, करीब 4 लाख रोजगार होंगे सृजित। यूपीसीडा ने 53 जिलों में की इन्वेस्टर मीट, सभी सेक्टर में बड़े पैमाने पर मिले निवेश प्रस्ताव।

लखनऊ/कानपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कुशल निर्देशन में उत्तर प्रदेश औद्योगिक विकास की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहा है। प्रगति के पथ पर अग्रसर इस नए उत्तर प्रदेश के साथ सहभागिता के लिए दुनिया भर के निवेशक आकर्षित हो रहे हैं। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीसीडा) ने ही अब तक 3 लाख करोड़ रुपए के निवेश प्रस्ताव प्राप्त कर लिए हैं और निवेश के इच्छुक औद्योगिक समूहों/कंपनियों से एमओयू भी साइन कर लिए है। यूपीसीडा को अब तक जो निवेश प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं उनमें से लगभग 9 लाख रोजगार का सृजन होगा। प्राप्त निवेश प्रस्तावों में 90 हजार करोड़ का विदेशी पूंजी निवेश एवं 1.53 लाख करोड़ का अन्य प्रदेशों से निवेश शामिल है। यानी यूपीसीडा को 53 जिलों के साथ ही 10 राज्यों से भी निवेश प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं, जबकि विदेशों से खासतौर पर अमेरिका, हांगकांग, सिंगापुर और यूएई से मिले निवेश प्रस्ताव भी इसमें शामिल हैं

GIS से 9 लाख रोजगार

उत्तर प्रदेश को एक ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था बनाने के उद्देश्य से ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2023 का मंच सज कर तैयार हो गया है। 10 फरवरी से लखनऊ में शुरू होने जा रहे इस बहुप्रतिक्षित कार्यक्रम से पहले योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में यूपी राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण यानी UPSIDA को 53 जिलों, 10 राज्यों और चार देशों से तीन लाख करोड़ रुपये का निवेश प्रस्ताव प्राप्त करने का दावा किया है।

सभी सेक्टर्स में हुआ निवेश

योगी ने उत्तर प्रदेश को वन ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए 10-12 फरवरी को राजधानी लखनऊ में ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन किया जा रहा है। इस आयोजन से पूर्व ही यूपीसीडा ने दिए गए 1 लाख करोड़ के लक्ष्य का 3 गुणा निवेश प्राप्त कर लिया है। स्थिति यह है कि होटल, अस्पताल, लॉजिस्टिक पार्क, वेयरहाउस और औद्योगिक इकाइयों की स्थापना के लिए बड़े पैमाने पर एमओयू हस्ताक्षरित किए जा रहे हैं। अकेले 82 हजार करोड़ रुपए का निवेश लॉजिस्टिक पार्क और वेयरहाउस की स्थापना के लिए होगा।

15 हजार एकड़ का लैंड बैंक तैयार

उ0प्र0 राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीसीडा) से जिन निवेशकों ने भूमि आवंटन की इच्छा जताई है उन्हें जल्द ही आवंटन किए जाने की योजना है ताकि वे मानचित्र भी समय से स्वीकृत करा सकें और इकाई स्थापित कर सकें। भूखंड की कमी न पड़े इसलिए प्राधिकरण ने विभिन्न औद्योगिक क्षेत्रों में 15 हजार एकड़ से अधिक का लैंड बैंक तैयार कर लिया है। लैंड बैंक में 25 सौ एकड़ भूमि और जुड़ने जा रही है। उन्नाव में बसाई जा रही ट्रांसगंगा हाईटेक सिटी हो या फिर कन्नौज के पार्क में विकास के कार्य तेजी से चल रहे हैं। प्राधिकरण अपनी ऑनलाइन सुविधाओं, औद्योगिक क्षेत्रों में आवंटियों को मिलने वाली सुविधाओं के बारे में भी सूबे में निवेश के इच्छुक लोगों को बता रहा है। इसके सुखद परिणाम भी आए हैं।

READ MORE- एक नजर प्रदेश और देश की खबरों पर …

इन्वेस्टर मीट के सुखद परिणाम

बरेली, आगरा, गाजियाबाद हापुड़, प्रयागराज, कानपुर आदि जगहों पर आयोजित की गई इन्वेस्टर मीट के परिणाम सुखद आए हैं। स्थिति यह है कि प्रयागराज में हुई मीट में 33703 करोड़, हापुड़ में 23000 करोड़, गाजियाबाद में 92000 करोड़, आगरा में 39038 करोड़ बरेली में 34000 करोड़, मेरठ 17000 करोड़, कानपुर में 70000 करोड़ रुपए, अयोध्या में 17000 करोड़ रुपये निवेश के प्रस्ताव आए। जिन्होंने भी प्रस्ताव दिए उनके द्वारा एमओयू भी हस्ताक्षर किए गए हैं।


निवेश के लिए लगातार एमओयू साइन किए जा रहे हैं। जिन्होंने भी एमओयू साइन किया है सभी को समय से भूमि उपलब्ध करा दी जाएगी। निवेश में किसी तरह की बाधा न आए इसके लिए पूरा सहयोग किया जाएगा -मयूर माहेश्वरी, सीईओ यूपीसीडा

निवेश के सेक्टर                             (करोड़ रुपये में)               प्रस्तावित रोजगार

रसद और गोदाम                                  82341                          141566
नवीकरण ऊर्जा                                    69278                            11300
निजी औद्योगिक पार्क                            46203                          288765
रासायनिक विनिर्माण                             26921                             4280
ऑटो मोबाइल सेक्टर                             12321                            10890
धातु ढलाई                                           11455                             9718 
गैर धातु और खनिज उत्पाद                    10373                           10595
चमड़ा और जूते                                      7156                          263860
खाद्य प्रसंस्करण                                      7038                           20449
मशीनरी और उपकरण निर्माण                  3601                           13872
प्लास्टिक निर्माण                                      3571                             4812
अन्य                                                       3508                          14394

कागज निर्माण                                          3216                           12332
इलेक्ट्रिक उपकरण निर्माण                         1800                             3590
मुद्रण                                                      1500                               685
रियल एस्टेट                                             1500                           12000
पुनर्चक्रण                                                 1304                             5695
कपड़ा                                                     1302                           12398
जैव ईंधन                                                  1151                            4700
कृषि प्रसंस्करण                                         1010                            3550
आईटी सेक्टर                                             820                             3800
ग्रुप हाउसिंग                                               580                            1180
मनोरंजन पार्क                                             410                               20
कॉलेज और अस्पताल                                   397                             475
मल्टीप्लेक्स                                                  300                            1000
चपटा कारखाना                                            225                            6000
एफएमसीजी                                                 217                               15
फर्नीचर                                                       214                            745
पैकेजिंग                                                      155                             517
इलेक्ट्रिसिटी गैस स्टीम व एयर कंडीशन सप्लाई-129                             274
अपशिष्ट प्रसंस्करण                                         15                             300

GIS से 9 लाख रोजगार