पौधों को लगाये जाने से कहीं ज्यादा जरूरी उन्हे बचाना-उपमुख्यमंत्री


लखनऊ । उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के कुशल मार्गदर्शन में ग्राम्य विकास विभाग द्वारा इस वर्ष 12करोड़ 32लाख पौधे रोपित करते हुए 54.17लाख मानव दिवसों कि सृजन किया गया है।उप मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि लगाते ग्रे पौधों को शत प्रतिशत जीवित बनाते रखने के हर सम्भव उपाय किए जांय। श्री मौर्य ने कहा कि पौधों को लगाते जाने कहीं ज्यादा जरूरी उन्हे जीवित बचाते रखना है ।

ग्राम्य विकास आयुक्त जी एस प्रियदर्शी ने बताया कि प्रदेश में पर्यावरण को सुदृढ़ बनाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने वृक्षारोपण अभियान वर्ष 2022-23 के तहत 35 करोड़ वृक्षारोपण कराने का लक्ष्य निर्धारित किया था। जिसमें ग्राम्य विकास विभाग द्वारा (मनरेगा )योजनान्तर्गत उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद के कुशल निर्देशन में विभिन्न तिथियों मे वृक्षारोपण हेतु अभियान चलाकर 12करोड़ 32लाख पौधो का रोपण किया गया।

15 अगस्त को 8200 अमृत सरोवरों पर वृक्षारोपण कराया गया। 61 नदियों के किनारे वृक्षारोपण कराया गया। प्रदेश में कुल 90,496 सामुदायिक स्थलों पर वृक्षारोपण एवं 1,98,210 व्यक्तिगत लाभार्थियों की जमीनों पर वृक्षारोपण कराते हुए 54.17 लाख मानव दिवस सृजित करते हुए कुल 113.21 करोड़ रू० धनराशि व्यय की गई। मुख्य रूप से पीपल, नीम, आम, बेल, सागौन आदि वृक्षों का रोपण किया गया है। रोपित किए गये पौधों की शत्-प्रतिशत जीवंतता बनाये रखने के लिए सामुदायिक स्थलों पर 03 वर्ष के अनुरक्षण की व्यवस्था भी की गई है।