भाजपा राज में भुखमरी बढ़ी-शिवपाल यादव

75


भारतीय जन सेवा पार्टी का प्रसपा में विलय।

लखनऊ प्रगतिशील समाजवादी पार्टी में भारतीय जन सेवा पार्टी के विलय की घोषणा करते हुए प्रसपा प्रमुख शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि प्रसपा की ताकत लगातार बढ़ रही है । स्वामी लक्ष्मी शंकर आचार्य व मुर्तुजा अली जैसे कद्दावर सामाजिक नेताओं द्वारा प्रसपा का दामन थामने से सेकुलर अभियान को गुणात्मक शक्ति मिली है । भाजपा पर करारा प्रहार करते हुए शिवपाल ने कहा कि भाजपा राज की गलत आर्थिक नीतियों के कारण देश में गरीबी और भुखमरी बढ़ी है । वैश्विक भुखमरी सूचकांक में भारत 104वें स्थान पर आ गया है जबकि पिछले साल 94वें पायदान पर था । पाकिस्तान, लंका, नेपाल तक की स्थिति हिंदुस्तान से बेहतर है । भाजपा बुनियादी सवालों से देश को भटकाने का काम बड़ी चालाकी से करती है ।

शिवपाल यादव ने घोषणा की है कि 2022 में हमारी सरकार आने पर प्रत्येक घर से एक बेटी और बेटे को सरकारी नौकरी दी जाएगी।ऐसा कानून बनाएंगे की स्नातक होने के बाद तत्काल उन्हें ₹500000 सरकार रोजगार के लिए उपलब्ध कराए।अब हमारी पार्टी छोटी नहीं रही है कुछ लोग हमें छोटी पार्टी की संज्ञा देते थे ।भाजपा सरकार कहीं भी विकास का कार्य नहीं करती है वह सिर्फ चुनाव के समय हिंदू-मुस्लिम पर ही जनता का दिशा भ्रम करती है क्या जनता में देश भान उत्पन्न कर आपसी मतभेद कर भाईचारे को भड़काती है।सत्ता में आने पर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी 300 यूनिट तक बिजली करेगी माफ ।उत्तर प्रदेश में शराबबंदी को शिवपाल यादव ने समर्थन दिया है।

भुखमरी व कुपोषण के मोर्चे पर भाजपा सरकार पूर्णतया विफल रही है । दो चरणों की परिवर्तन यात्रा से प्रसन्न शिवपाल ने कहा कि कृष्ण जितने मीरा व सूर के हैं उतने ही रहीम व रसखान के हैं । भारतीय संस्कृति विभाजन व नफरत के खिलाफ रही है । साम्प्रदायिकता से लड़ना हमारा लोक कर्तव्य है । शिवपाल ने जोर देकर कहा कि राम व कृष्ण के नाम पर साम्प्रदायिकता फैलाना ठीक नहीं , विभाजन की संकुचित राजनीति के परिणाम खतरनाक होते हैं । इस अवसर पर उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए स्वामी लक्ष्मी शंकर आचार्य ने कहा कि शिवपाल के बगैर भाजपा को हराना मुश्किल है । इस अवसर पर प्रसपा मुख्य प्रवक्ता दीपक मिश्र, मुर्तुजा अली, खालिद इस्लाम, भंते धीरो ज्योति, पीसी कुरील, जर्रार हुसैन, बदरुल हसन आदि ने संबोधित किया ।