कारसेवक के घर पहुंच न्यास ने किया सम्मान

72
कारसेवक के घर पहुंच न्यास ने किया सम्मान
कारसेवक के घर पहुंच न्यास ने किया सम्मान

श्रीराम जन्मभूमि मंदिर आन्दोलन के कारसेवक के घर पहुंच कर न्यास ने किया सम्मान।न्यास द्वारा कारसेवकों को सम्मान करने के क्रम में आज श्रीराम जन्मभूमि में अपनी अहम भूमिका निभाने वाले इस प्रतापी परिवार को सम्मानित करके न्यास अपने आपको गौरवान्वित महसूस कर रहा है। कारसेवक के घर पहुंच न्यास ने किया सम्मान

अजय सिंह

श्रीराम जन्मभूमि आन्दोलन में प्रमुख भूमिका निभाने वाले कारसेवक स्वर्गीय पुरुषोत्तम भार्गव के परिवार जनों को श्रद्धेय कल्याण सिंह सनातन सेवा न्यास ने सम्मानित किया।
श्रीराम जन्मभूमि अभियान के नायक, विश्व हिंदू परिषद के अन्तर्राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे श्रद्धेय अशोक सिंघल जी के लखनऊ आगमन पर उनका अस्थाई निवास रहा स्व० पुरुषोत्तम भार्गव जी के आवास पर श्रद्धेय कल्याण सिंह सनातन सेवा स्मृति न्यास के अध्यक्ष प्रशान्त भाटिया अपने संगठन के कार्यकर्ताओं के साथ उनके घर पहुंचकर परिवार की मुखिया श्रीमती अचला भार्गव (पत्नी स्व० प्रदीप भार्गव) को कारसेवक स्वर्गीय पुरषोत्तम भार्गव (ससुर जी) के वंदनीय कार्य हेतु प्रशस्ति पत्र एवं अंगवस्त्र पहनाकर उनका सपरिवार अभिनन्दन किया।

इस मौके पर न्यास के अध्यक्ष प्रशान्त भाटिया ने कहा कि श्रीराम जन्मभूमि आन्दोलन की कर्मभूमि और योजना बनाने में केन्द्रीय भूमिका निभाने वाला यह घर स्व० पुरुषोत्तम भार्गव जी का आवास हुआ करता था । जहां श्रद्धेय अशोक सिंघल जी जब भी लखनऊ आते थे, यहीं पर निवास करते थे। यहाँ एक कमरा उनके नाम से आरक्षित रहता था और सभी प्रकार की बैठक एवं योजना इसी कमरे में बनती थी। भाटिया ने कहा कि आज जो अयोध्या में प्रभु श्रीराम जी का भव्य मंदिर का सपना सकार हो रहा है, उसमें इस परिवार की और इस स्थान की अहम भूमिका रही है। प्रशान्त भाटिया ने बताया कि न्यास द्वारा कारसेवकों को सम्मान करने के क्रम में आज श्रीराम जन्मभूमि में अपनी अहम भूमिका निभाने वाले इस प्रतापी परिवार को सम्मानित करके न्यास अपने आपको गौरवान्वित महसूस कर रहा है।

सम्मान के दौरान स्वर्गीय श्री पुरषोत्तम भार्गव जी की बहू अचला भार्गव की आंखें नम हो गई। उन्होंने उस समय के कई वृत्तांत भी साझा किए। ज्ञात होकि दिनांक 5 दिसंबर 2023 को श्रद्धेय कल्याण सिंह सनातन सेवा स्मृति न्यास द्वारा शौर्य दिवस की पूर्व संध्या पर 6 दिसंबर 1992 को कारसेवा करने वाले समस्त देवतुल्य कारसेवकों को श्रीराम जन्मभूमि मंदिर पूर्ण होने की बेला पर उनको याद करते हुए, उनकी सेवाओं को नमन करते हुए 300 कारसेवकों को उनका आभार और अभिनंदन करते हुए सम्मानित किया गया था। इस क्रम में जो कारसेवक उक्त कार्यक्रम में सम्मिलित नहीं हो पाए थे, उनका घर-घर जाकर सम्मानित करने का अहवाहन संगठन के अध्यक्ष प्रशान्त भाटिया द्वारा किया गया था। उसी क्रम में आज दिनांक 07/12/2023 को भार्गव निवास पर कारसेवक परिवार स्व० प्रदीप भार्गव जी की पत्नी श्रीमती अचला भार्गव (बहु स्व० पुरषोत्तम भार्गव) सहित पूरे परिवार को सम्मानित किया गया।

अध्यक्ष प्रशान्त भाटिया ने बताया कि यह क्रम श्रीराम जन्मभूमि मंदिर प्राण प्रतिष्ठा दिनांक 22 जनवरी 2024 तक समस्त कारसेवकों का न्यास द्वारा सम्मान/अभिनन्दन किया जाएगा। इस मौके पर स्वर्गीय प्रदीप भार्गव जी की धर्मपत्नी अचला भार्गव के साथ पुत्र अभिनव भार्गव, पुत्र अपूर्व भार्गव, पुत्रवधु शिखा भार्गव और पुत्रवधु स्वेता भार्गव के साथ न्यास के अध्यक्ष प्रशान्त भाटिया, ईशा मित्तल एवं अनिल कुमार बिसेन मौजूद रहे। कारसेवक के घर पहुंच न्यास ने किया सम्मान