योगी कैबिनेट में अर्पणा यादव के साथ अदिति सिंह भी

131

अर्पणा यादव ने कहा कि जनता जनार्दन होती है। इस विधानसभा चुनाव की प्रचंड विजय ने यह साबित कर दिया है। उन्‍होंने कहा कि मुझे इस बात की बहुत खुशी है कि जिस तरह से विपक्षियों ने मुझ पर टिप्‍पणी की कि अर्पणा यादव का जनाधार नहीं है, उन्‍हें जनता ने जवाब दे दिया है।अपर्णा ने कहा हमने जहाँ-जहाँ प्रचार किया सभी जगह जीत हुई है। सनातन धर्म में जनार्दन विष्‍णु भगवान को कहा जाता है। तो विष्‍णु भगवान ने जवाब दे दिया है और जवाब बहुत करारा है। अर्पणा ने कहा कि आज एक बहुत अच्‍छा डायलॉग याद आ रहा है कि आसमां में थूकने वाले को पता होना चाहिए कि पलटकर थूक उसके मुंह पर आती है। अब थूकने वालों को समझ आ रहा है हमने ये क्या कर दिया अब उनसे न थूकते बन रहा है न निगलते ही।अब उन्हें दिन में भी सपने नज़र आने लगे हैं।

सूत्रों के मुताबिक योगी की नई कैबिनेट में अपर्णा यादव को मंत्री बनाने की चर्चा काफी तेज है। योगी कैबिनेट 2.0 में अपर्णा यादव के अलावा अदिति सिंह को भी मंत्री बनाए जाने की संभावना है। कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुई अदिति सिंह ने भाजपा के टिकट पर रायबरेली से जीत दर्ज की और अब वो योगी कैबिनेट का हिस्सा बन सकती हैं।प्रदेश चुनाव 2022 के प्रचार अभियान के दौरान जो चेहरे सबसे ज्‍यादा चर्चित रहे उनमें से एक हैं अर्पणा यादव। ऐन चुनाव के पहले सपा छोड़ भाजपा में शामिल हुईं पूर्व मुख्‍यमंत्री मुलायम सिंह यादव की इस छोटी बहू ने चुनाव नतीजे सामने आने के बाद भाजपा की प्रचंड जीत पर खुशी जताते हुए कहा कि मैंने जिनका प्रचार किया वे सारे उम्‍मीदवार जीते हैं। जनाधार पर सवाल उठाने वालों को जवाब मिल गया है।

योगी 2.0 मंत्रिमंडल हुआ दिल्ली में फाइनल,औपचारिक घोषणा शपथ ग्रहण के समय होना शेष।सूत्रों के अनुसार तीन उपमुख्यमंत्री बनाने पर सहमति, जातीय समीकरण साधने की कवायद,2024 को लक्ष्य बनाकर होगा मंत्रिमंडल गठन।कुल 62 मंत्री लें सकते हैं शपथ,28 कैबिनेट मंत्री, 11 राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार और 23 राज्यमंत्री लेंगे शपथ।केशव मौर्या को संगठन में भेजने की तैयारी,बेबी रानी मौर्या को उपमुख्यमंत्री बनाने पर सहमति।दिनेश शर्मा भी जाएंगे संगठन में, ए0 के0 शर्मा को मिलेगी उपमुख्यमंत्री की जिम्मेदारी।तीसरे उपमुख्यमंत्री के रूप में असीम अरुण को मिल सकती है कमान।सुरेश खन्ना को फिर से मिलेगी अहम मंत्रिमंडल की जिम्मेदारी, सतीश माहाना ब्रजेश पाठक,दयाशंकर सिंह, जितिन प्रसाद,स्वतंत्र देव सिंह,सिद्धार्थनाथ सिंह,नंदी गुप्ता,सूर्य प्रताप शाही,पंकज सिंह,राजेश्वर सिंह,रामपाल वर्मा,अदिति सिंह,अर्पणा यादव,श्रीकांत शर्मा ,आशुतोष टंडन,मोहसिन रजा,अनिल राजभर,संदीप सिंह भी बनेंगे मंत्री।डॉ0 महेंद्र सिंह को संगठन में वापस भेजने की तैयारीअपना दल को दो,निषाद पार्टी को एक मंत्री पद देने पर बनी सहमति।

योगी सरकार 02 की नई कैबिनेट में दो पूर्व आईपीएस अधिकारियों राजेश्वर सिंह और असीम अरूण को भी भी शामिल किया जाएगा। लखनऊ की सरोजनी नगर सीट से चुनाव जीतकर आए डॉ. राजेश्वर सिंह यूपी पुलिस विभाग में अधिकारी रहे हैं जबकि कन्नौज सदर सीट से चुनाव जीतने वाले बीजेपी विधायक असीम अरुण एडीजी रैंक के अधिकारी रहे हैं। इसके अलावा बीजेपी के शीर्ष नेताओं में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बेटे और नोएडा से रिकार्ड मतों से जीत दर्ज करने वाले विधायक पंकज सिंह को भी योगी मंत्रिमंडल में शामिल करने की बात चल रही है।

2022 के विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी की तरह समाजवादी परिवार भी बिखरता दिखाई दिया।जहां एक चाचा शिवपाल यादव अखिलेश यादव के साथ खड़े दिखाई दिए।परन्तु नेता जी की छोटी बहू अपर्णा यादव ने खेमा बदल लिया और राष्ट्रवाद के साथ वो भाजपा के साथ जा खड़ी हुईं।अपर्णा यादव ने ये कदम विधानसभा चुनाव से पहले ही उठा लिया था और नतीजों के बाद साफ है कि उनका भाजपा के साथ जाना फायदेमंद रहा हलांकि अखिलेश यादव के लिए ये किसी झटके से कम साबित नहीं हुआ। उत्तर प्रदेश के परिणाम को देखते हुए कहा जा सकता है कि अखिलेश यादव के निर्णय लगातर गलत सावित हो रहे हैं। जो सपा का जनाधार तो बढ़ा रहा है लेकिन विश्वाश को खो रहा है।