सरकार की नीतियों से सरकारी कर्मचारी निराश-शेखर दीक्षित

73
सरकार की नीतियों से सरकारी कर्मचारी निराश-शेखर दीक्षित
सरकार की नीतियों से सरकारी कर्मचारी निराश-शेखर दीक्षित

शनिवार को भी जारी रहा आप का डोर-टू-डोर कार्यक्रम. अवकाश की चलते अभियान से जुड़े सरकारी कर्मचारी. बीजेपी सरकार की नीतियों से सरकारी कर्मचारी निराश . 5 राज्यों के चुनाव में बीजेपी सरकार का सूपड़ा साफ होने वाला हैं. मोदी सरकार लगातार विपक्ष के नेताओं को दबाने और कुचलने का काम कर रही है. सरकार की नीतियों से सरकारी कर्मचारी निराश-शेखर दीक्षित

लखनऊ- आम आदमी पार्टी की घर घर पर्चे बाटने की अभियान की 5वें दिन अवकाश की चलते सरकारी कर्मचारी भी इसके सहभागी बने. राजधानी लखनऊ में आप नेत्री नीरा सक्सेना के नेतृत्व में पूर्वी विधानसभा मोहनलालगंज विधानसभा उत्तर विधानसभा सहित कई जगहों पर अभियान चलाया गया उनके साथ इस अभियान में नीरज गुप्ता शहंशाह हुसैन सलमान अभिषेक साहिल अंसारी पीके बाजपेई ज्ञान सिंह वर्मा सहित कई कार्यकर्ता मौजूद रहे. अभियान के दौरान कर्मचारियों ने अपना दर्द बयान करते हुए कहा की सरकार ने हम लोगों की सारे एरियर रोक रखें हैं करोना काल से जों कटौती शुरु हुई उसके चलते खासा नुकसान उठाना पड़ा. कम कर्मी की चलते काम का बोझ अलग हैं. सरकार की खिलाफ आवाज उठा नहीं सकते. धरना प्रदर्शन करने पर रोक हैं मजबूर होकर जीने को मजबूर हैं. कर्मचारियो का कहना था की सरकार हर वर्ग का शोषण कर रही हैं.


उक्त विचार आम आदमी की पार्टी की कार्यकर्त्ताओ की साथ लोगों ने तब साझा किए ज़ब कार्यकर्त्ता अपने नेता संजय सिंह की गिरफ्तारी का सच बताने की किए गली गली, मोहल्ले मोहल्ले घर घर दस्तक दे रहें थे. इस दौरान कर्मचारी वर्ग ने अपना पूर्ण समर्थन देते हुए कहा की इस बार लोकसभा चुनाव से सरकार को समझ में आ जायेगा की शोषण बहुत हद तक नहीं करना चाहिए. उनका कहना था कि सरकार लगातार विपक्ष की नेताओं को दबाने और कुचलने का काम कर रही है. जों भी उनके खिलाफ आवाज उठाता हैं सरकार उसको इडी और सीबीआई का डर दिखाती हैं और जों दब जाता हैं उसको अपनी पार्टी में शामिल करा लेती हैं लेकिन लोकतंत्र के लिए यह ठीक नहीं हैं.इस मौके पर जिलाध्यक्ष शेखर दीक्षित ने कहा कि आने वाले 5 राज्यों के चुनाव में बीजेपी सरकार का सूपड़ा साफ होने वाला हैं. जिस तरह से उनके नेताओं को फर्जी केस में फसा कर जेल भेजा गया हैं जनता उसको देख रही हैं. और जनता से बड़ी की अदालत नहीं होती हैं जनता पांच राज्यों में. और आगे आने वाले समय में मोदी और बीजेपी सरकार को सबक सिखाएगी.


जिलाध्यक्ष शेखर दीक्षित ने कहा कि बीजेपी सरकार जानती हैं को आप सांसद संजय सिंह जिस तरह आम जनमानस की लड़ाई लड़ रहें हैं और सरकार को घेर रहें हैं, उससे उत्तर प्रदेश में आने वाले दिनों में उसके लिए कड़ी चुनौती बन सकती हैं इसीलिए फ़र्ज़ी अवैध शराब नीति का खेल करके सरकार आप नेताओं को जेल भेज रही हैं ताकि पार्टी को खत्म किया जा सकें.
इन लोगों को भी दो पेज की पर्चों का वितरण कर संजय सिंह की गिरफ्तारी का सच बताया गया. इन पर्चों में संजय सिंह की गिरफ्तारी का सच बताने का प्रयास किया गया है. इस अभियान के दौरान जनता के बीच अपार जनसमर्थन मिलने से कार्यकर्ताओं में खासा उत्साह है. युवाओं ने कार्यकर्ताओं के साथ बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया. लोगो का कहना था कि आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार के कामकाज से वह बेहद प्रभावित हैं वहां के स्कूलों की खासकर युवाओं ने खासी तारीफ की और कहा कि हम चाहते हैं जिस तरह दिल्ली में केजरीवाल सरकार काम कर रही है उसे अन्य प्रदेशों में भी मौका मिलना चाहिए. उनका कहना था कि हम जानते हैं कि संजय सिंह और आम आदमी पार्टी के नेताओं को भाजपा सरकार ईडी और सीबीआई की छापेमारी कर परेशान कर रही है.


अभियान के दौरान मिले अपार जनसमर्थन के बीच जिलाध्यक्ष ने कहा कि मोदी सरकार जांच एजेंसियों का खुला दुरुपयोग कर रही है. संजय सिंह का मामला हो, मनीष सिसोदिया को हो या फिर अन्य का। ईडी उनके विरुद्ध किसी भी तरह का सुबूत पेश नहीं कर सकी है। सुप्रीम कोर्ट ने भी जांच एजेंसियों को फटकारा है फिर भी ईडी सबक लेने को तैयार नहीं है.जिलाध्यक्ष शेखर दीक्षित ने कहा कि दरअसल ईडी के अधिकारी भी जानते हैं कि उनके खिलाफ कुछ है ही नहीं, लेकिन वह भाजपा सरकार के नेताओं के दबाव में काम करने को मजबूर हैं। सरकार की नीतियों से सरकारी कर्मचारी निराश-शेखर दीक्षित