पुष्टाहार उत्पादन एवं वितरण में स्वयं सहायता समूहों की महत्वपूर्ण भूमिका-केशव प्रसाद मौर्य

पुष्टाहार उत्पादन एवं वितरण में स्वयं सहायता समूहों की महिलाएं निभा रही हैं, महत्वपूर्ण भूमिका।

लखनऊ। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के कुशल दिशा निर्देशन में उत्तर प्रदेश ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत गठित स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं द्वारा पुष्टाहार उत्पादन एवं वितरण का कार्य तीव्रता के साथ किया जा रहा है।बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग के साथ अभिसरण के माध्यम से स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं द्वारा प्रदेश के 43 जनपदों के 204 विकासखण्डों में पुष्टाहार उत्पादन एवं आंगनवाड़ी केन्द्रों को वितरण कराने का कार्य किया जा रहा है। अभी तक 81 टेक होम राशन प्लांट स्थापित किये जा चुके है, जिसमें से 53 प्लांट को भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण से लाइसेंस निर्गत किया जा चुका है| बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग से अभिसरण अंतर्गत प्रदेश के समस्त 75 जनपदों में ड्राई राशन समूह की महिलाओ के माध्यम से आंगनवाड़ी केन्द्रों पर उपलब्ध कराते हुए वितरण में सहयोग किया जा रहा है। ड्राई राशन वितरण प्रणाली के अंतर्गत समूह की महिलाओ द्वारा कोटेदारों से गेहूं एवं चावल तथा पी सी डी एफ से दुग्ध उत्पाद प्राप्त करते हुए ,दाल क्रय कर समस्त उत्पादों को आंगनवाड़ी केन्द्रों पर निर्धारित तिथि पर उपलब्ध कराया जा रहा है। इस कार्य में 61050 समूहों द्वारा ड्राई राशन की उपलब्धता का कार्य 1,64,177 आंगनवाड़ी केन्द्रों पर किया जा रहा है।