रामोत्सव:2500 लोक कलाकार करेंगे रामलीला का मंचन

87
रामोत्सव:2500 लोक कलाकार करेंगे रामलीला का मंचन
रामोत्सव:2500 लोक कलाकार करेंगे रामलीला का मंचन

—– रामोत्सव 2024 —–

22 को 100 मंचों पर सांस्कृतिक शोभायात्रा के सारथी बनेंगे 2500 लोक कलाकार। उप्र की 25 व अन्य प्रदेशों की 10 रामलीलाओं से रामनगरी होगी आलोकित। 24 मार्च तक 15 से अधिक देशों की रामलीला का होगा मंचन। 70 दिन तक रामनगरी में बहेगी प्रदेश-देश व दुनिया के कलाकारों की सुर लहरियां, 5000 से अधिक कलाकार देंगे प्रस्तुति। रामोत्सव:2500 लोक कलाकार करेंगे रामलीला का मंचन

अयोध्या। महज 9 दिन और… फिर देश-दुनिया उस पल का दीदार करेगी, जिसकी अभिलाषा 500 वर्षों से कई पीढ़ियां कर रही थीं। वह दिन आ गया तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मार्गदर्शन में इसे अद्वितीय, अविस्मरणीय बनाने में संस्कृति विभाग भी जुट गया है। 14 जनवरी से 24 मार्च तक यहां प्रदेश-देश व दुनिया के 5000 कलाकार एक तरफ जहां विभिन्न माटी की संस्कृतियों के सुरों की गंगा को प्रवाहित करेंगे तो वहीं इन 70 दिनों में 15 से अधिक देशों के कलाकार रामलीला का मंचन करेंगे। इस अवधि में उत्तर प्रदेश की 25 व अन्य प्रदेशों की 10 रामलीला मंडलियों की प्रस्तुतियां भी त्रेतायुग के वैभव का दीदार कराएंगी। वहीं प्राण-प्रतिष्ठा के दिन 22 जनवरी को 100 मंचों पर 2500 लोक कलाकार सांस्कृतिक शोभायात्रा के सारथी बनेंगे।

22 जनवरी को 100 मंच पर होंगे 2500 कलाकार

रामनगरी में 22 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करकमलों से रामलला अपने दिव्य-भव्य मंदिर में विराजमान होंगे। प्रधानमंत्री के आगमन पर उनका भव्य स्वागत होगा। यहां 100 मंचों पर 2500 कलाकार भव्य सांस्कृतिक शोभायात्रा के सारथी बनेंगे। 21 जनवरी को इसका पूर्वाभ्यास किया जाएगा। इसके अलावा अनेक स्थानों पर कलाकार भारतीय संस्कृति की खुशबू अपनी प्रस्तुति से बिखरेंगे।

70 दिनों तक 10 स्थानों पर कलाकारों की होगी प्रस्तुति

14 जनवरी से 24 मार्च तक कलाकारों की तरफ से प्रस्तुति होगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नई प्रतिभाओं व स्थापित कलाकारों को मंच मुहैया कराने का निर्देश दिया था। इसी क्रम में 10 सार्वजनिक स्थानों पर यह कार्यक्रम होंगे। कार्यक्रम के लिए फाइनल रूप से भरतकुंड, सूर्यकुंड, गुप्तारघाट, झुनकी घाट, बड़ी देवकाली, गुलाबबाड़ी, रामघाट हाल्ट-सप्तरंगी पुल के बगल में, साकेत पेट्रोल पंप के बगल में, पराग डेयरी व अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन के समीप मंच पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन होगा।

रामनगरी में दिखेगा पूरा भारत

रामनगरी में उत्तर प्रदेश समेत अन्य राज्यों के कलाकारों की प्रतिभागिता भी रहेगी। यहां तुलसी उद्यान में हरियाणा के राकेश गांगुली शिव स्तुति, उड़ीसा के अशोक बेहरा श्रीराम नाट्य, महाराष्ट्र के यशवंत माधव, तमिलनाडु के टीएस मोर्गन, पंजाब के जसवंत सिंह झूमर की प्रस्तुति देंगे। कर्नाटक के के एस सत्यनारायण टीम समेत सम्पूर्ण रामायण की बाल यात्रा की जीवंत प्रस्तुति देंगे। इसके अलावा और भी कलाकारों की प्रस्तुतियां होंगी।

22 को मालिनी अवस्थी, रवि किशन, कन्हैया मित्तल की भी होगी प्रस्तुति

पद्मश्री मालिनी अवस्थी, गोरखपुर के सांसद व फ़िल्म अभिनेता रवि किशन तथा कन्हैया मित्तल सरीखे कलाकारों की प्रस्तुति 22 जनवरी को शाम 5 से 8 बजे तक होगी। तुलसी उद्यान पर मालिनी अवस्थी और रवि किशन का कार्यक्रम होगा। राम की पैड़ी पर उज्जैन के शर्मा बंधु व चंडीगढ़ के कन्हैया मित्तल प्रस्तुति देंगे। राम कथा पार्क नागपुर के वाटेकर सिस्टर्स की प्रस्तुति होगी। रामोत्सव:2500 लोक कलाकार करेंगे रामलीला का मंचन