September 23, 2021

Nishpaksh Dastak

Nishpaksh Dastak

मोदी कार्यकाल में देश को एक नई दिशा

प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार के सफलतापूर्वक 07 वर्ष के कार्यकाल के उपलक्ष्य में ‘सेवा ही संगठन’ कार्यक्रम प्रदेश में आयोजित किया गया।मुख्यमंत्री ने भारतीय जनता पार्टी के ‘सेवा ही संगठन’कार्यक्रम को वर्चुअल माध्यम से सम्बोधित किया।ग्रामीण जनों एवं पार्टी कार्यकर्ताओं को सेवाभाव के लिए प्रेरित किया,कोरोना कालखण्ड में केन्द्र एवं राज्य सरकार के जनहितैषी कार्यों से लोगों को अवगत कराया।देश को कोरोना से बचाने एवं प्रत्येक व्यक्ति कीसुरक्षा के लिए प्रधानमंत्री जी कृतसंकल्पितप्रधानमंत्री जी के 07 वर्षों के सफलतमकार्यकाल में देश को एक नई दिशा प्राप्त हुई।एक नए उत्साह एवं उमंग के साथ देश आज आगे बढ़ रहा।प्रधानमंत्री जी के कुशल मार्गदर्शन एवं नेतृत्व में आने वालेसमय में भारत, दुनिया की एक महाशक्ति के रूप मेंउभरते हुए मानवता के कल्याण हेतु मार्ग प्रशस्त करेगा।कोरोना के दोनों कालखण्ड के दौरान मजदूरों, किसानों एवं सामान्य जनमानस के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज की घोषणा, आत्मनिर्भर भारत के कार्यक्रम और उसके उपरान्त भारत के प्रत्येक नागरिक को सुरक्षा कवच देनेके लिए 02 स्वदेशी वैक्सीन की उपलब्धता सुनिश्चित की गई।


प्रधानमंत्री जी को विरासत के रूप में ऐसा भारत मिला था, जो अंदर सेपूरी तरह जर्जर हो चुका था, आतंकवाद, अलगाववाद, भ्रष्टाचार चरम पर था।भारत का नेतृत्व प्रधानमंत्री जी के हाथों में आया तो देखते-देखतेइस देश की तकदीर और तस्वीर बदलकर एक नए भारतके रूप में हम सबके सामने प्रस्तुत है।‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ को अक्षरशः उसीरूप में लागू करने का प्रयास किया, योजनाओं एवं संसाधनों कालाभ प्रत्येक नागरिक को बिना किसी भेदभाव के प्राप्त हो रहा।प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजनाऔर पं0 दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना का लाभबिना भेदभाव के प्रत्येक नागरिक को प्राप्त हो रहा।बुन्देलखण्ड क्षेत्र में सिंचाई एवं पेयजल के लिए प्रधानमंत्री जी ने विशेष ध्यान दिया।प्रत्येक नागरिक के जीवन में खुशहाली एवं गांव के सम्पूर्ण विकासके लिए ग्राम पंचायतों को वित्तीय रूप से सशक्त किया गया।


देश में आधारभूत अवसंरचना के निर्माण हेतु युद्ध स्तर पर कार्य किए गए।कोरोना के दौरान प्रधान गरीब कल्याण पैकेज के तहत श्रमिकों, वृद्धों,निराश्रित महिलाओं, जनधन खाता धारकों एवं किसानों को डी0बी0टी0के माध्यम से धनराशि सीधे उनके खातों में अंतरित की गई।टीम वर्क के माध्यम से कोरोना की दूसरी लहर पर सफलतापूर्वक नियंत्रण पा लिया।कोरोना कालखण्ड के दौरान भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओंने जनमानस की पूर्ण निष्ठा एवं सेवाभाव से मदद की।स्वास्थ्य कर्मियों, कोरोना वाॅरियर्स को हम हर प्रकार कासहयोग प्रदान करें तथा उन्हें सम्मान देना हमारा दायित्व।
केन्द्र सरकार द्वारा 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग तथा राज्य सरकार द्वारा18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों का निःशुल्क टीकाकरण किया जा रहा।प्रदेश के सभी मेडिकल काॅलेजों में 100 बेड के पीकू वाॅर्ड तथा सभी जिला अस्पतालों में 25 से 30 बेड के पीकू वाॅर्ड स्थापित किए जा रहे।छोटे बच्चों के लिए मेडिसिन किट वितरित करने का कार्यक्रम प्रारम्भ किया जाएगा,केन्द्र एवं राज्य सरकार लोगों का जीवन एवंजीविका बचाने के लिए कृतसंकल्पित।


लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज भारतीय जनता पार्टी के ‘सेवा ही संगठन’ कार्यक्रम में वर्चुअल माध्यम से जुड़ते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं को सेवाभाव के लिए प्रेरित किया। इस दौरान उन्होंने जनपद महोबा के सिजहरी तथा जनपद सीतापुर के गुरेपारा गांव के ग्रामीण जनों एवं पार्टी कार्यकर्ताओं को कोरोना कालखण्ड में केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा उठाए गए जन हितैषी कार्यों से अवगत कराया।


मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के 07 वर्षों के सफलतम कार्यकाल में देश को एक नई दिशा प्राप्त हुई है। देश के 135 करोड़ नागरिकों के जीवन में एक नई आशा की किरण जगी है। एक नए उत्साह एवं उमंग के साथ देश आज आगे बढ़ रहा है। भारत आज नए भारत के लिए संकल्पित होता दिखायी दे रहा है। यह आप सभी के सम्मिलित परिश्रम का ही परिणाम है। उन्होंने प्रधानमंत्री जी के यशस्वी कार्यकाल के लिए प्रदेशवासियों की ओर से उनका अभिनन्दन किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी के कुशल मार्गदर्शन एवं नेतृत्व में आने वाले समय में भारत, दुनिया की एक महाशक्ति के रूप में उभरते हुए मानवता के कल्याण हेतु मार्ग प्रशस्त करेगा।


मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार के सफलतापूर्वक 07 वर्ष के कार्यकाल के उपलक्ष्य में ‘सेवा ही संगठन’ कार्यक्रम आयोजित किया गया है। उन्होंने कहा कि वैश्विक कोरोना महामारी ने हम सबके सामने अनेक चुनौतियां पेश की हैं और इन चुनौतियों के बीच में एक-एक व्यक्ति के जीवन और जीविका को बचाने की गम्भीर चुनौती पूरे देश के सामने है। मार्च, 2020 से ही पूरे देश को कोरोना से बचाने एवं प्रत्येक व्यक्ति की सुरक्षा के उपायों के लिए प्रधानमंत्री जी कृतसंकल्पित हैं।


मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोरोना के दोनों कालखण्डों के दौरान 135 करोड़ से अधिक भारतीयों को कोरोना से बचाने के उपायों, मजदूरों, किसानों एवं सामान्य जनमानस के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज, आत्मनिर्भर भारत के कार्यक्रम और उसके उपरान्त भारत के प्रत्येक नागरिक को सुरक्षा कवच देने के लिए 02 स्वदेशी वैक्सीन की उपलब्धता सुनिश्चित कराना, यह अपने आप में नए भारत की तस्वीर है, जिसका नेतृत्व प्रधानमंत्री जी विगत 07 वर्षों से करते हुए देश को एक नई सोच एवं एक नई स्फूर्ति के साथ आगे बढ़ाने का कार्य कर रहे हैं।


मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वर्ष 2014 में जब प्रधानमंत्री जी ने देश की बागडोर सम्भाली थी, तो उन्हें विरासत के रूप में ऐसा भारत मिला था, जो अंदर से पूरी तरह जर्जर हो चुका था। आतंकवाद, अलगाववाद, भ्रष्टाचार चरम पर था। जातीय हिंसा, दंगे आम बात थी। विकास कुछ चंद लोगों तक ही सीमित रह गया था और देश के अंदर एक प्रकार की अराजकता की स्थिति थी। लोगों में अविश्वास की स्थिति थी। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत का सम्मान कम हो चुका था और उन स्थितियों में भारत का नेतृत्व प्रधानमंत्री जी के हाथों में आया तो देखते-देखते उन्होंने इस देश की तकदीर और तस्वीर बदलकर एक नये भारत के रूप में हम सबके सामने प्रस्तुत किया।


मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ को अक्षरशः उसी रूप में लागू करने का प्रयास किया है। योजनाओं एवं संसाधनों का लाभ प्रत्येक नागरिक को बिना किसी भेदभाव के प्राप्त हो रहा है। इसी क्रम में प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत प्रत्येक गरीब व्यक्ति के घर में बनाये जाने वाले शौचालय हो या फिर प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अन्तर्गत निःशुल्क रसोई गैस का कनेक्शन और पं0 दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत की सुविधा बिना भेदभाव के प्रत्येक नागरिक को प्राप्त हो रही है।  

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, प्रधानमंत्री किसान सिंचाई योजना के माध्यम से किसानों के जीवन में व्यापक परिवर्तन लाने का प्रयास किया गया है। हर किसान की आमदनी को बढ़ाने में योगदान किया गया है। बुन्देलखण्ड क्षेत्र में सिंचाई एवं पेयजल के लिए प्रधानमंत्री जी ने विशेष ध्यान दिया है। ‘हर घर नल योजना’ के माध्यम से वहां के लोगों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराया जा रहा है। यह प्रधानमंत्री जी की दूरदर्शिता एवं प्रत्येक व्यक्ति की पीड़ा के प्रति उनकी संवेदना को प्रदर्शित करने वाली योजनाएं हैं।


प्रत्येक नागरिक के जीवन में खुशहाली एवं गांव के सम्पूर्ण विकास के लिए ग्राम पंचायतों को वित्तीय रूप से सशक्त बनाया गया है। प्रधानमंत्री जी की सोच ग्राम पंचायत को विकास की धुरी बनाने की है। गांव में चल रहे विकास कार्यक्रमों में सामुदायिक शौचालयों का निर्माण, पंचायत भवन एवं ग्राम सचिवालय का निर्माण, काॅमन सर्विस सेण्टर के माध्यम से गांव-गांव को तकनीक से जोड़ते हुए हर गांव में बैंकिंग सुविधा हेतु बैंकिंग काॅरेस्पाॅन्डेंट सखी की उपलब्धता जैसे अनेक कार्यक्रम प्रधानमंत्री जी की सोच का परिणाम है।


मुख्यमंत्री जी ने कहा कि देश में आधारभूत संरचना के निर्माण हेतु युद्ध स्तर पर कार्य किए गए हैं, जो हर एक नागरिक को रोजगार प्रदान करने के साथ-साथ उसके जीवन में व्यापक बदलाव के माध्यम बनने वाले हैं। अवसंरचना ही देश की अर्थव्यवस्था को मजबूती प्रदान करती है। उड़ान योजना के माध्यम से आज सामान्य व्यक्ति भी हवाई यात्रा कर सकता है। यह प्रधानमंत्री जी की सोच का ही परिणाम है। स्वास्थ्य सुविधाओं में अभूतपूर्व वृद्धि की गई है। देश में विगत 07 वर्षों में 300 से अधिक नये मेडिकल काॅलेज, 22 नये एम्स निर्मित कराए जा रहे हैं। वहीं उत्तर प्रदेश में 02 एम्स निर्माणाधीन हैं और इन्हीं की तर्ज पर वाराणसी में एक संस्थान का सृजन किया जा रहा है। राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में विगत 04 वर्षों में 30 नए मेडिकल काॅलेजों की स्थापना की जा रही है। इस प्रकार इन कार्यों से प्रधानमंत्री जी ने देश को एक नई सोच एवं एक नये विजन के साथ आगे बढ़ने की प्रेरणा दी है।


मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने जनधन योजना के माध्यम से गरीब से गरीब व्यक्ति के बैंक खाते खुलवाए। कोरोना के दौरान प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज के तहत श्रमिकों, वृद्धों, निराश्रित महिलाओं, जनधन खाता धारकों एवं किसानों को डी0बी0टी0 के माध्यम से धनराशि सीधे उनके खातों में अन्तरित की गई। डिजिटल इण्डिया के माध्यम से प्रत्येक नागरिक को देश के विकास में सहभागी बनाया गया है। स्टार्ट-अप इण्डिया के माध्यम से देश के युवाओं के लिए नवाचार के नये-नये माध्यम खुले। मेक इन इण्डिया के माध्यम से आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना को साकार करने का कार्य किया गया।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वैश्विक महामारी के दौरान दुनिया के अन्य देश परेशान हैं, तो वहीं भारत इस महामारी से मजबूती के साथ लड़ते हुए सफलतापूर्वक आगे बढ़ रहा है। सर्वाधिक आबादी वाले उत्तर प्रदेश के लिए आशंका व्यक्त की जा रही थी कि यहां एक से डेढ़ लाख केस प्रतिदिन आएंगे। आज हमने टीम वर्क के माध्यम से कोरोना की दूसरी लहर पर सफलतापूर्वक नियंत्रण पा लिया है। प्रदेश में विगत 24 घण्टों में मात्र 1908 नए एक्टिव केस आए हैं तथा कुल एक्टिव केसों की संख्या 41,214 रह गई है। प्रदेश में रिकवरी दर 96.4 प्रतिशत तथा पाॅजिटिविटी दर न्यूनतम स्तर पर रह गई है।


मुख्यमंत्री जी ने कहा कि इस कोरोना कालखण्ड के दौरान भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जनमानस की पूर्ण निष्ठा एवं सेवाभाव से मदद की। उनके द्वारा लोगों को फूड पैकेट, मास्क एवं आवश्यक स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की गईं। क्वारण्टीन सेण्टर संचालन में स्वच्छता, सैनिटाइजेशन की कार्यवाही एवं बिछड़ों को मिलाने में सेवा भाव ने सर्वोत्कृष्ट उदाहरण प्रस्तुत किया है। उन्होंने कहा कि इस सेवा के जज्बे को हमें बनाए रखते हुए टीमवर्क द्वारा आगे बढ़ना होगा, जिससे हम कोरोना जैसी चुनौतियों से मजबूती से लड़ पाएंगे।


मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने अपील की है कि लोग बीमारी को हल्के में न लें। इस वैश्विक महामारी से बचाव ही सर्वोत्तम उपाय है। आने वाले समय में कोरोना के साथ-साथ हमें संक्रामक एवं वेक्टरजनित रोगों से भी बचाव के उपाय अपनाने होंगे। इसके लिए गांव एवं कस्बों में स्वच्छता, सैनिटाइजेशन एवं फाॅगिंग का कार्य निरन्तर क्रियाशील रहना चाहिए। लोगों को शुद्ध पेयजल के लिए प्रेरित करना होगा। कोरोना प्रोटोकाॅल का पालन करते हुए ‘दो गज दूरी, मास्क है जरूरी’ के अनुपालन के साथ ही लोग बाहर निकलें। हाई रिस्क कैटेगरी के लोग बाहर न निकलें।


मुख्यमंत्री जी ने कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों, कोरोना वाॅरियर्स को हम हर प्रकार का सहयोग प्रदान करें। उन्हें सम्मान देना हमारा दायित्व है। निगरानी समिति के कार्यों में सहयोग प्रदान करते हुए कोविड के प्रति जनजागरूकता फैलाने का कार्य किया जाए। लोग कोविड टेस्ट से भागे नहीं। संक्रमित लोग समय पर दवा का सेवन करें। लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित किया जाए, क्योंकि टीकाकरण जीवन का सुरक्षा कवच है। केन्द्र सरकार द्वारा 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों का निःशुल्क टीकाकरण किया जा रहा है। साथ ही, प्रदेश में 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों को राज्य सरकार द्वारा निःशुल्क टीकाकरण का लाभ प्रदान किया जा रहा है।


मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोरोना की सम्भावित थर्ड वेव से निपटने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा अभी से तैयारियां मुकम्मल की जा रही हैं। इस सन्दर्भ में प्रदेश के सभी मेडिकल काॅलेजों में 100 बेड तथा सभी जिला अस्पतालों में 25 से 30 बेड के पीकू वाॅर्ड स्थापित किए जा रहे हैं। साथ ही, सी0एच0सी0 में भी यह कार्यवाही प्रारम्भ की गई है। आने वाले दिनों में छोटे बच्चों के लिए मेडिकल किट वितरित करने का कार्यक्रम प्रारम्भ किया जाएगा।


मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आंशिक कोरोना कफ्र्यू के दौरान औद्योगिक गतिविधियों, आवश्यक एवं स्वास्थ्य सेवाओं के साथ-साथ राज्य परिवहन निगम की बसें भी संचालित की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र एवं राज्य सरकार लोगों का जीवन एवं जीविका बचाने के लिए कृतसंकल्पित है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राज्य में लागू आंशिक कोरोना कफ्र्यू को 01 जून, 2021 की सुबह 7ः00 बजे तक बढ़ाए जाने के निर्देश दिए गए हैं। कोरोना के 600 से कम एक्टिव केस वाले जनपदों में 01 जून, 2021 की सुबह 7ः00 बजे से शाम 7ः00 बजे तक आंशिक कोरोना कफ्र्यू में छूट दी जाए। इन जनपदों में सायं 7ः00 बजे से प्रातः 7ः00 बजे तक दैनिक रात्रिकालीन कफ्र्यू तथा शुक्रवार सायं 7ः00 बजे से सोमवार प्रातः 7ः00 बजे तक साप्ताहिक कोरोना कफ्र्यू प्रभावी रहेगा। 600 से अधिक एक्टिव केस वाले जनपदों में फिलहाल कोई छूट नहीं दी जाएगी।