July 27, 2021

Nishpaksh Dastak

Nishpaksh Dastak

संचारी रोग नियंत्रण/दस्तक अभियान का संचालन ध्यान से करें-जिलाधिकारी

अयोध्या। विशेष संचारी रोग नियंत्रण/दस्तक अभियान की अन्तर्विभागीय समन्वय समिति की बैठक कलेक्टेट सभागार में आयोजित की गयी। जिसकी अध्यक्षता करते हुये जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने कहा कि शासन द्वारा सभी विभागों को जो भी निर्देश एवं गाइड लाइन दिये गये है उन सभी का शत प्रतिशत पालन सभी विभाग समन्वय बनाकर करें। उन्होंने कहा कि इस अभियान में आउट पुट के साथ भौतिक प्रगति एवं जागरूकता पर विशेष ध्यान दिये जाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री का विशेष संचारी रोग नियंत्रण पर विशेष रूप से ध्यान दिया जाता रहा है और मुख्यमंत्री के ही प्रयास से इस अभियान के तहत पूर्वांचल में संचारी रोग पर नियंत्रण प्राप्त हुआ है।

उन्होंने सभी विभागों से कहा कि हर विभाग एक बार अपना एजेंडा सेट कर लें और उसी के अनुसार अपने अधीनस्थ स्टाप की टेनिंग एवं प्लानिंग के बारे में विस्तार से बताये और प्रतिदिन उसकी मानीटरिंग करें और उसकी रिपोर्ट मुझे भी प्रस्तुत करें। उन्होंने कहा कि विशेष संचारी रोग नियंत्रण/दस्तक अभियान के तहत क्षय रोग मलेरिया, डेंगू, चिकन गुनिया, कोविड के जो भी मरीज सर्वे के दौरान चिन्हित किये जाये उन व्यक्तियों की टेस्टिंग कैसे करेंगे इसकी भी कार्ययोजना बनायें तथा चिन्हांकन एवं टेस्टिंग के पश्चात सम्बंधित व्यक्तियों को सम्बंधित रोग विशेषज्ञ से उनका प्रापर परीक्षण कराने के पश्चात उन्हें दवाएं भी उपलब्ध करायें। इसके लिए कार्ययोजना भी बना लें। केवल चिन्हांकन एवं उसकी रिपोर्ट के पे्रषण तक अभियान को सीमित न रखें।

जिला विद्यालय निरीक्षक तथा बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये है कि आप अपने विद्यालय के अध्यापकों के माध्यम से छात्र छात्राओं के व्हाटसअप गु्रप पर विभिन्न रोगों के लक्षण उनसे बचाव के बारे में जानकारी शेयर करें। उन्होंने कहा कि बच्चें किसी भी रोग से बचाव के बारे में जल्दी सीख लेते है। इसके लिए आप चिकित्सा विभाग के विशेषज्ञों से बैठकर व्हाटसअप मैसेज बनाकर खण्ड शिक्षा अधिकारी के माध्यम से शेयर करें। अभियान के दौरान जिलाधिकारी ने जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिये कि जनपद में 794 में से 778 कम्युनिटी ट्ायलेट क्रियाशील है। उनकी साफ सफाई के साथ उन्हें क्रियाशील रखने में यदि कोई समस्या है तो उसका तत्काल निराकरण कराये तथा जो कम्युनिटी ट्यलेट अधूरे पड़े है उन्हें भी पूरा करायें।

जिलाधिकारी ने विशेष संचारी रोग अभियान के तहत ग्राम/मोहल्ला निगरानी समितियों को भी एक्टिव बनाये रखने तथा उनके द्वारा किये गये कार्यो की प्रति सप्ताह समीक्षा किये जाने के निर्देश दिये है। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिये कि निगरानी समितियों को मेडिसीन किट भी उपलब्ध करा दें ताकि जो भी मरीज चिन्हित हो उन्हें मेडिसीन किट उपलब्ध कराने के साथ रोगों से बचाव के बारे में जागरूक करें।

उन्होंने निगरानी समितियों के सदस्यों को सर्वे के दौरान लोगों को वातावरणीय स्वच्छता, व्यक्तिगत स्वच्छता, शौचालय के प्रयोग एवं खुले में शौच न करने, हाथ धोने का महत्व, उथले तथा असुरक्षित जल स्त्रोतों का प्रयोग न करने, पूरे परिवार को स्वच्छ पेयजल के उपयोग के महत्व के बारे में बताने, कुपोषण के कारण तथा कुपोषित बच्चों हेतु पुष्टाहार, कुपोषित बच्चों के उपचार हेतु मच्छरों से बचाव के उपाय, क्षय रोग के लक्षण तथा बचाव के उपाय, अप्रशिक्षित चिकित्सकों से उपचार न कराने के बारें में जानकारी दें। केवल प्रशिक्षित चिकित्सकों से ही उपचार करायें।

बैठक में बताया गया कि विशेष संचारी रोग अभियान 1 जुलाई से 31 जुलाई तक तथा दस्तक अभियान 12 जुलाई से 25 जुलाई तक चलेगा। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अनिता यादव, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 घनश्याम सिंह सहित चिकित्सा विभाग वरिष्ठ चिकित्सक, सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के एमओआईसी, चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, नगर विकास विभाग, पंचायती राज, ग्राम्य विकास, पशुपालन, महिला एवं बाल विकास, शिक्षा, दिव्यांगजन सशक्तीकरण, समाज कल्याण, कृषि एवं सिंचाई, उद्यान एवं सूचना विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।