September 23, 2021

Nishpaksh Dastak

Nishpaksh Dastak

राज्य सरकार सैमसंग की निर्माण इकाई को हर सम्भव मदद देने को तैयार

  • मुख्यमंत्री से सैमसंग (इण्डिया एवं साउथ वेस्ट एशिया) के प्रतिनिधिमण्डल ने भेंट की।
  • सैमसंग की नोएडा फैक्ट्री ‘मेक इन इण्डिया ’ कार्यक्रमकी सफलता का बेहतरीन उदाहरण।
  • राज्य सरकार सैमसंग की निर्माण इकाई को हर सम्भव मदद देने के लिए तैयार।
  • निवेश को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से विभिन्न सेक्टोरल पाॅलिसियां निर्धारित की गई।
  • राज्य में उद्योग लगाने के लिए देश व दुनिया के निवेशक एवं कम्पनियां उत्साहित।
  • कोविड-19 की सेकेण्ड वेव के दौरान आंशिक कोरोना कफ्र्यू में भी औद्योगिक। गतिविधियां निरन्तर संचालित रखी गयीं प्रतिनिधिमण्डल ने आंशिक कोरोना कफ्र्यू के दौरान प्रदेश सरकार द्वारा औद्योगिक गतिविधियों को सामान्य और सुचारु रूप से संचालित रखने की अनुमति दिए जाने के लिए मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया प्रतिनिधिमण्डल ने कोविड की दूसरी लहर के दौरान की चुनौतियां निपटने के लिए राज्य सरकार द्वारा किये जा रहे प्रयासों की सराहना की।
  • प्रदेश के बेहतर औद्योगिक वातावरण और निवेश फ्रेण्डली नीतियोंके दृष्टिगत सैमसंग कम्पनी ने चीन स्थित डिसप्ले मैन्युफैक्चरिंग यूनिटको नोएडा स्थापित किए जाने का निर्णय लिया, जिसकी स्थापना का कार्य पूर्ण।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से आज यहां उनके सरकारी आवास पर सैमसंग (इण्डिया एवं साउथ वेस्ट एशिया) के सी0ई0ओ0 और एम0डी0 केन कैंग के नेतृत्व में आए प्रतिनिधिमण्डल ने भेंट की। भेंट के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि सैमसंग की नोएडा फैक्ट्री ‘मेक इन इण्डिया’ कार्यक्रम की सफलता का बेहतरीन उदाहरण है। इसके माध्यम से प्रदेश के नौजवानों को राज्य में ही रोजगार उपलब्ध कराने में सहायता मिली है।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार सैमसंग की निर्माण इकाई को हर सम्भव मदद देने के लिए तैयार है। उन्होंने प्रतिनिधिमण्डल को आश्वस्त किया कि प्रदेश सरकार द्वारा सैमसंग कम्पनी को आगे भी सहयोग प्रदान किया जाता रहेगा।

उत्तर प्रदेश में निवेश की असीमित सम्भावनाएं मौजूद हैं। राज्य सरकार द्वारा निवेश को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से विभिन्न सेक्टोरल पाॅलिसियां निर्धारित की गई हैं। प्रदेश में निवेश को आकर्षित करने के लिए सकारात्मक माहौल स्थापित किया गया है। ‘ईज़ आॅफ डुइंग बिजनेस’ रैंकिंग में उत्तर प्रदेश का पूरे देश में द्वितीय स्थान है।

राज्य में उद्योग लगाने के लिए देश व दुनिया के निवेशक एवं कम्पनियां उत्साहित हैं। उन्होंने कहा कि कोविड-19 की सेकेण्ड वेव के दौरान आंशिक कोरोना कफ्र्यू में भी औद्योगिक गतिविधियां निरन्तर संचालित रखी गयीं।

प्रतिनिधिमण्डल ने आंशिक कोरोना कफ्र्यू के दौरान प्रदेश सरकार द्वारा औद्योगिक गतिविधियों को सामान्य और सुचारु रूप से संचालित रखने की अनुमति दिए जाने के लिए मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया। सदस्यों ने कहा कि औद्योगिक गतिविधियां संचालित रहने से प्रदेश स्थित सैमसंग फैक्ट्री में उत्पादन निरन्तर जारी रहा और इस पर कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं पड़ा। इससे कम्पनी को अपने उत्पादों की आपूर्ति के सम्बन्ध में अंतर्राष्ट्रीय प्रतिबद्धताओं को पूरा करने में सहायता मिली। प्रतिनिधिमण्डल ने कोविड की दूसरी लहर की चुनौतियां से निपटने के लिए राज्य सरकार द्वारा किये जा रहे प्रयासों की सराहना की।

प्रतिनिधिमण्डल ने कहा कि प्रदेश के बेहतर औद्योगिक वातावरण और निवेश फ्रेण्डली नीतियों के दृष्टिगत सैमसंग कम्पनी ने चीन स्थित डिसप्ले मैन्युफैक्चरिंग यूनिट (एस0डी0एन0) को नोएडा स्थापित किए जाने का निर्णय लिया, जिसकी स्थापना का कार्य पूरा किया जा चुका है। यह भारत के प्रति तथा उत्तर प्रदेश को मैन्युफैक्चरिंग हब बनाए जाने की प्रतिबद्धता को प्रदर्शित करता है।

प्रतिनिधिमण्डल ने कहा कि उत्तर प्रदेश को मैन्युफैक्चरिंग हब बनाए जाने से भारत सरकार की प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेन्टिव (पी0एल0आई0) योजना के तहत गौतमबुद्धनगर (नोएडा) स्थित सैमसंग मोबाइल फैक्ट्री सर्वाधिक मोबाइल निर्माता एवं भारत से सबसे बड़े मोबाइल निर्यातक के रूप में उभरी है। उन्होंने प्रदेश स्थित सैमसंग फैक्ट्री के सम्बन्ध में संचालित गतिविधियों के बारे में विस्तृत जानकारी दी। प्रतिनिधिमण्डल के सदस्यों ने बताया कि सैमसंग ने 01 मिलियन डाॅलर सहित ऑक्सीजन सिलेण्डर, ऑक्सीजन कंसेन्ट्रेटर और सिरिंज दान कर कोरोना से लड़ाई में सरकार का सहयोग किया।

इस अवसर पर अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव औद्योगिक विकास अरविन्द कुमार, विशेष सचिव मुख्यमंत्री अमित सिंह, सैमसंग (इण्डिया एवं साउथ वेस्ट एशिया) के उपाध्यक्ष एवं उप प्रबन्ध निदेशक पीटर री, सैमसंग (इण्डिया एवं साउथ वेस्ट एशिया) के वरिष्ठ उपाध्यक्ष मनु कूपर उपस्थित थे।