12 सितंबर को ग्रेटर नोएडा में वर्ल्ड डेयरी समिट का आयोजन


मुख्य सचिव एवं पुलिस महानिदेशक ने प्रधानमंत्री के प्रस्तावित कार्यक्रम के दृष्टिगत हेलीपैड, कार्यक्रम स्थल एवं एक्सपो मार्ट का किया गहन स्थलीय निरीक्षण। उपस्थित प्रशासनिक एवं पुलिस के अधिकारियों को जनपद के वीवीआईपी कार्यक्रम को मानकों के अनुरूप संपन्न कराने के संबंध में दिए आवश्यक दिशा-निर्देश। आगामी 12 सितंबर को ग्रेटर नोएडा के एक्सपो मार्ट में वर्ल्ड डेयरी समिट 2022 होगा आयोजित । कार्यक्रम का शुभारंभ प्रधानमंत्री जी के कर कमलों द्वारा किया जाना प्रस्तावित। 

लखनऊ/गौतमबुद्धनगर।  आगामी 12 सितंबर को ग्रेटर नोएडा के एक्सपो मार्ट में वर्ल्ड डेयरी समिट 2022 का आयोजन होने जा रहा है। इस कार्यक्रम का शुभारंभ प्रधानमंत्री जी के कर कमलों द्वारा किया जाना प्रस्तावित है। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम को मानकों के अनुरूप सफल बनाने एवं सुरक्षा की दृष्टि से उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव श्री दुर्गा शंकर मिश्रा एवं उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक श्री देवेन्द्र सिंह चौहान के द्वारा आज एक्सपो मार्ट में पहुंचकर गहन स्थलीय निरीक्षण किया गया। 

         इस अवसर पर दोनों अधिकारियों ने सर्वप्रथम हेलीपैड का स्थलीय निरीक्षण करते हुए सुरक्षा एवं अन्य व्यवस्थाओं के संबंध में प्रशासनिक एवं पुलिस के अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। इसके उपरांत मुख्य सचिव एवं डीजीपी ने कार्यक्रम सभागार जहां पर प्रधानमंत्री के द्वारा भाग लिया जाना प्रस्तावित है, का गहनता के साथ स्थल निरीक्षण किया तथा मंच आदि व्यवस्थाओं के संबंध में प्रशासनिक एवं पुलिस के अधिकारियों को सुरक्षा संबंधी एवं व्यवस्थित कार्यक्रम संपन्न कराने के संबंध में मौके पर ही निर्देश दिए। 

         स्थल निरीक्षण करने के उपरांत मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक्सपो मार्ट के मीटिंग हॉल में महत्वपूर्ण बैठक आहूत की गई। इस अवसर पर आयोजकों के द्वारा वर्ल्ड डेयरी सम्मिट 2022 के संबंध में विस्तृत जानकारी कंप्यूटर डिस्प्ले के माध्यम से उपलब्ध कराई गई।

          मुख्य सचिव ने कहा कि भारत पूरे विश्व में दुग्ध उत्पादन में प्रथम स्थान पर है। भारत में उत्तर प्रदेश दुग्ध उत्पादन में पहले पायदान पर है। बहुत समय के उपरांत वर्ल्ड डेयरी समिट भारत में आयोजित होने जा रहा है। समिट का उत्तर प्रदेश में आयोजित होना प्रदेश के लिए सौभाग्य की बात है। आयोजित होने वाले कार्यक्रम में भारत एवं अन्य देशों के डेलिगेट्स भी भाग लेंगे। साथ ही आयोजित कार्यक्रम में भारत देश एवं अन्य देशों के कृषकों के द्वारा भी प्रतिभाग किया जाएगा। 

          उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम अंतर्राष्ट्रीय स्तर का होने के फलस्वरूप अन्य देशों के मेहमान भी इस कार्यक्रम में प्रतिभाग करेंगे, प्रशासनिक एवं पुलिस के अधिकारियों द्वारा ऐसी व्यवस्था स्थानीय स्तर पर सुनिश्चित की जाए, जिससे आने वाले विदेशी मेहमानों एवं देश से आने वाले वीआईपी को किसी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े। सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस के अधिकारियों के द्वारा विशेष प्रबंध सुनिश्चित किए जाएं, इसके लिए माइक्रो प्लान तैयार करते हुए कार्रवाई सुनिश्चित की जाए।

          उन्होंने कहा कि समस्त संबंधित अधिकारीगण अपनी-अपनी कार्ययोजना बनाकर अपने कार्य में पूर्ण लगन के साथ जुट जाएं और 12 सितंबर से पूर्व प्रशासनिक पुलिस एवं अन्य संबंधित अधिकारियों के द्वारा अपने अपने स्तर की कार्यवाही सुनिश्चित कर ली जाए, ताकि प्रधानमंत्री जी का कार्यक्रम मानकों के अनुरूप संपन्न हो सके। उन्होंने इस अवसर पर आयोजकों का यह भी आह्वान किया कि आयोजित होने वाली वर्ल्ड डेयरी समिट में भारत की ओर से अच्छे प्रदर्शन सुनिश्चित किए जाएं। 

          उन्होंने कहा कि भारत की गाय का दूध गुणवत्ता के मानकों में विश्व प्रसिद्ध है। इस संबंध में आयोजकों द्वारा वर्ल्ड डेयरी सम्मिट में अच्छी नस्ल की गायों का प्रदर्शन करने का प्रयास किया जाए ताकि वर्ल्ड डेयरी समिट को ऐतिहासिक रूप में भारत में संपन्न कराया जा सके। इस अवसर पर सेकेट्री फिशरीज भारत सरकार जितेंद्र नाथ स्वेन, एडिशनल सेक्रेटरी भारत सरकार वर्षा जोशी, चेयरमैन एनडीडीवी मिनेश शाह, पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह, मंडल आयुक्त मेरठ एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण सुरेंद्र सिंह, संयुक्त पुलिस आयुक्त लव कुमार, जिला अधिकारी सुहास एल वाई, भारत सरकार के अन्य अधिकारी गण तथा जनपद के अन्य वरिष्ठ पुलिस अधिकारी गण एवं जिला स्तरीय अधिकारियों के द्वारा भाग लिया गया।