राष्ट्रीय लोक अदालत में 85,826 मुकदमो का निस्तारण

राष्ट्रीय लोक अदालत में 85,826 मुकदमो का निस्तारण किया गया।

लखनऊ। विशेष न्यायाधीश (पाक्सो एक्ट)/ नोडल अधिकारी लोक अदालत अरविंद मिश्र जी ने बताया है कि राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली के निर्देशानुसार जनपद न्यायालय, लखनऊ में माननीय जनपद न्यायाधीश राम मनोहर नारायण मिश्र की अध्यक्षता तथा मार्गदर्शन में एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, लखनऊ के तत्वाधान में जनपद न्यायालय लखनऊ सहित मोटर दावा दुर्घटना अधिकरण, पारिवारिक न्यायालय परिसर, वाणिज्यिक न्यायालय, कलेक्ट्रेट एवं समस्त तहसीलों आदि में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन आज दिनांक 14.05.2022 को किया गया। राष्ट्रीय लोक अदालत द्वारा चेक बाउन्स केसेज, बैंक रिकवरी केसेज, आपराधिक शमनीय वाद, वैवाहिक वाद, मोटर एक्सीडेंट क्लेम पिटीशन वाद, किरायेदारी वाद, सुखाधिकार, व्यादेश, उत्तराधिकार आदि दीवानी वादों तथा राजस्व वादों का निस्तारण किया गया, जिसमें फौजदारी के 17,918 वादों का निस्तारण विभिन्न फौजदारी न्यायालयों द्वारा किया गया, जिनमें रू01408630 /- जुर्माने के रूप में प्राप्त किये गये मोटर दुर्घटना प्रतिकर के 65 वादों का निस्तारण किया गया, जिसमें पक्षकारों को रू०44965000/- की धनराशि प्रतिकर के रूप में दिलायी गयी।

203 वैवाहिक वादों का निस्तारण किया गया। सिविल व उत्तराधिकार के कुल रू0 69917380/- की धनराशि के 507 मामलों का निस्तारण किया गया। 138 एन0आई0 एक्ट चेक बाउन्स के 1018 वादों का निस्तारण किया गया। इस प्रकार आज की राष्ट्रीय लोक अदालत में कुल 19,795 लम्बित वादों का निस्तारण न्यायालयों द्वारा किया गया।इसके अतिरिक्त राजस्व बैंक वसूली व फायनेन्स के प्री-लिटिगेशन स्तर पर 66031 मामलों का निस्तारण किया गया, जिनकी समझौता राशि रू० 355373503 /- सम्बन्धित पक्षकारों द्वारा जमा करवाकर मामले निस्तारित किये गये।इस प्रकार, जनपद लखनऊ में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में आज दिनांक 14.05.2022 को कुल 85826 मुकदमों का निस्तारण कुल समझौता राशि रू० 655788602/- के साथ किया गया।