नहीं हो रहा किसानों की समस्याओं का समाधान भड़की भाकियू

किसानों की समस्याओं का समाधान ना होने पर भड़की भाकियू ।थाना परिसर में किया धरना प्रदर्शन।सभी समस्याओं का निस्तारण करने का आश्वासन मिलने पर वापस लौटे भाकियू कार्यकर्ता।

मेरठ/बहसूमा। किसानों की समस्याओं का समाधान ना होने से नाराज भाकियू तोमर ने रविवार को बहसूमा थाना परिसर में धरना देकर घंटों नारेबाजी की। जिसके बाद किसानों के बीच पहुंचे बहसूमा थाना प्रभारी ने सभी समस्याओं का जल्द से जल्द निस्तारण करने की बात कहते हुए धरना समाप्त कराया। हालांकि जाते-जाते भाकियू तोमर के पदाधिकारी चेतावनी दे गए की यदि 1 सप्ताह के भीतर समस्याओं का समाधान न किया गया तो वह फिर से धरना प्रदर्शन करेंगे।बताते चलें कि बीते कुछ दिनों से क्षेत्र में नलकूपों पर मोटर चोरी की घटनाएं बढ़ रही है लेकिन जब भी किसान चोरों को पकड़ने की मांग करते हैं तो पुलिस उन्हें आश्वासन देकर टरका देती है जिससे किसानों में भारी नाराजगी है। इस मामले को लेकर भाकियू वक्ताओं का कहना था कि बहसूमा थाना पर किसानों की समस्याओं का समाधान नहीं हो पा रहा है। किसान अपनी जो भी समस्या लेकर थाना पर पहुंचता है स्थानीय पुलिस उसे जल्द ही कार्रवाई करने का आश्वासन देकर टरका देती है जो पूरी तरह गलत है।

थाना पर मौजूद स्टाफ भ्रष्टाचार में लिप्त है । इसी मामले को लेकर सैकड़ों किसान रविवार की दोपहर ट्रैक्टर ट्रॉली में भरकर थाने पर पहुंचे तथा थाना परिसर में बैठकर धरना देना शुरू कर दिया। धरने का नेतृत्व भारतीय किसान यूनियन तोमर मेरठ के युवा जिला सनी चौधरी व मुजफ्फरनगर के अखिलेश चौधरी कर रहे थे। जिसमें मुख्य अतिथि के तौर पर राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी चंद्रवीर सिंह मौजूद किसानों के बीच उनकी समस्या सुनने के लिए पहुंचे थे। धरने के संचालन का जिम्मा राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य समर सिंह चौधरी ने ले रखा था तथा अध्यक्षता मंडल अध्यक्ष चौधरी पदम सिंह कर रहे थे। धरने के दौरान वक्ताओं ने पुलिस प्रशासन के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की तथा अपने संबोधन में कहा कि बहसूमा थाना पर क्रॉस केस करने का सिलसिला जारी है जिससे पीड़ित पक्ष भी थाने में आने से कतराते है। किसानों के बुलावे पर धरना दे रहे भाकियू कार्यकर्ताओं के बीच पहुंचे बहसूमा थाना के कार्यवाहक प्रभारी ओम प्रबल सिंह ने किसानों से कहा कि पुलिस के ऊपर लगाए गए आरोप बेबुनियाद हैं कुछ लोग अपने निजी स्वार्थ के कारण किसान नेताओं को बहकाने का प्रयास कर रहे हैं। यदि फिर भी किसी भी पुलिसकर्मी के द्वारा किसी किसान का अपमान किया गया तो वह मामले की जांच कराएंगे तथा किसानों के नलकूपों पर हो रही चोरियों का जल्दी खुलासा किया जाएगा। इसके उपरांत धरना दे रहे किसान वापस लौट गए तथा जाते-जाते चेतावनी दे गए की यदि एक सप्ताह के अंदर उनकी समस्याओं का समाधान न किया गया तो वह फिर से धरना प्रदर्शन करेंगे। धरना प्रदर्शन के दौरान।

  • युवा जिला अध्यक्ष महिला मोर्चा काजल शर्मा, नफीसा, उपासना,जिला प्रभारी सनोज प्रधान, राजेंद्र सिंह, जिला प्रवक्ता समर सिंह, जिला संगठन मंत्री चौधरी अनंगपाल सिंह, युवा जिला अध्यक्ष मुजफ्फरनगर अंकित गुज्जर ,
    जिला महासचिव मनोज गुर्जर ,
    युवा जिला संगठन मंत्री अमित जट राणा, युवा जिला उपाध्यक्ष गौरव देशवाल, जिला महासचिव ज्ञानेंद्र चौधरी, जुगनू, नवीन चौधरी, पहलाद सिंह आदि सैकड़ों किसान मौजूद रहे।