योग से बीमारियों में लाभ

जमीन पर पद्मासन लगाकर बैठ जाइए। लेफ्ट पैर को उठाइए और राईट जंघा पर लगाइए ताकि लेफ्ट पैर की ऐड़ी नाभि के नीचे आ जाए। फिर राईट पैर को उठाइए और लेफ्ट जंघा पर रखिए ताकि दोनों ऐड़ियां नाभि से नीचे एक दूसरे को मिलें। दोनों हाथों को पीठ के पीछे ले जा कर राईट हाथ से लेफ्ट पैर को और लेफ्ट हाथ से राईट पैर को पकड़िए। पेट को अंदर की ओर चिपकाते हुए कमर के ऊपरी भाग को आगे झुकाइए और जमीन पर लगाइए।

लाभ:

  • इस आसन में किए गए हल्के प्राणायाम के कारण शरीर कान्तिमान और चेहरा सुन्दर हो जाता है।
  • यह आसन क्रोध को कम करता है।
  • यह आसन मन को एकाग्र करने में सहायक है।
  • यह आसन पाचन शक्ति को बढ़ाता है।
  • कब्ज तथा वायु विकार को दूर करता है।
  • यह आसन श्वास सम्बन्धी रोग जैसे- क्षय रोग को दूर करता है।
  • इस आसन के केवल 15 मिनट अभ्यास करने से 15  मिनट के अंदर ही साधारण ज्वर उतर जाता है।
  • कमर, रीढ़ तथा मांसपेशियों में लचीलापन आता है