July 26, 2021

Nishpaksh Dastak

Nishpaksh Dastak

अयोध्या के जॉइंट मजिस्ट्रेट ने दहेज रहित किया विवाह

अयोध्या के जॉइंट मजिस्ट्रेट ने दहेज रहित किया विवाह,मात्र 101 रु0 शगुन के तथा 11 बाराती को साथ लेकर लिए सात फेरे।

अयोध्या/सोहावल। सोहावल के पूर्व बी डी ओ रहे आई ए एस अधिकारी तथा वर्तमान में जिले के जॉइंट मजिस्ट्रेट पद पर तैनात बेहद मिलनसार व सादगी पूर्ण जीवन व्यतीत करने वाले प्रशांत नागर ने अपने पिता को दिया गया वादा निभाते हुए दहेज रहित विवाह संपन्न करवाया तथा अपने ससुर रमेश भंडारी के भी सादगी के जीवन और दहेज ना देने के विचारों का समान किया।


हरियाणा प्रदेश के फरीदाबाद कस्बे के निवासी प्रशांत नागर, पुत्र रंजीत नागर ने दिल्ली निवासी डॉ0मनीषा भंडारी, पुत्री रमेश भंडारी से दिल्ली के बुरारी मोहल्ला स्थित लड़की के घर में बेहद सादगी के साथ सम्पन हुई इस शादी में भारतीय प्रशाशनिक सेवा के अधिकारी नागर ने कोविड प्रोटोकाल का पूरी तरह से पालन करते हुए अपने बारात में घर वालों के सहित मात्र 11 बाराती शामिल किया।


इस बारे में प्रशांत नागर ने बताया कि एक ओर मेरे माता जी का देहांत गत मई महीने में कोरोना के चलते हो जाने से घर परिवार में वैसे ही शोक भरा माहौल था दूसरे मेरे पिता जी पचपन से ही जीवन मे उच्च सिद्धान्तों का पालन करते चले आ रहे हैं।मेरी बहन की शादी भी पिता जी ने बिना दहेज शगुन के मात्र 101 रु देकर किया था।तभी से पिता जी ने संकल्प लिया था के बेटों की शादी में दहेज नही लेंगे।

पिता जी को दिए हुए संकल्प को निभाते हुए मैंने भी शुरू से ही बिना दहेज की शादी करने का फैसला कर लिया था। श्री नागर ने बताया कि मैंने व पत्नी डॉ0 मनीषा ने प्रेम विवाह किया है तथा दोनों ने अपने आप से यह वादा किया है के सर्विस टाइम में कभी रिश्वत नही लेंगे।प्रशांत नागर के इस निर्णय तथा सादगी भरे वैवाहिक समारोह से समाज मे एक नई आशा जगी है तथा लोगों में हर्ष व्याप्त है।