भारतीय सेना प्रयोग करेगी कैदियों के हाथ तैयार किया तिरंगा

107

राकेश यादव

लखनऊ। “हर घर तिरंगा ” उत्सव मनाने में तिरंगों की उपलब्धता सुनिश्चित करने तथा देशप्रेम की भावना से ओतप्रोत होकर जेल में कैदियों ने बड़े पैमाने पर तिरंगे तैयार किए हैं। विभिन्न स्वयं सेवी संगठनों व समाजसेवियों की कारागार को भेंट की जा रही सामग्री से कारागार प्रशासन भारतीय सेना, छावनी बोर्ड, पुलिस प्रशासन, न्यायपालिका, कारागार मुख्यालय, लखनऊ व अन्य विभिन्न सामाजिक संगठनों तथा जनसामान्य को निशुल्क झण्डे भेंट कर रहा है।

कारागार में बंदियों द्वारा अबतक 10,000 तिरंगा सेना, छावनी बोर्ड, पुलिस ,न्यापालिका आदि को भेंट किए जा चुके हैं।बंदी लगातार कठिन व अथक परिश्रम कर तिरंगे तैयार करने में जुटे हैं तथा हर घर तिरंगा मुहिम में सभी को तिरंगा उपलब्ध हो सके। जनपद के पुलिस कप्तान डॉक्टर एस आनंद को कारागार पर तिरंगा भेंट किए गए।


भारतीय सेना में कर्नल वीके मिश्र को कारागार पर तिरंगे भेंट किए गए। कर्नल साहब तिरंगा बनाने बाले बंदियों से मिलकर उनकी प्रशंसा की तथा उत्साहवर्धन किया।छावनी बोर्ड की मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिज्ञासा राज भी कारागार पर पधारी और उन्हें 1200 तिरंगे भेंट किए गए। मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने भी तिरंगा तैयार करने वाले व सहयोग देने वाले बंदियों को सम्मानित किया। और उन्हें उपहार भेंट किये।


जनपद न्यायालय, शाहजहांपुर के सभी न्यायिक अधिकारियों व सभी स्टाफ के लिए तिरंगा जेल अधीक्षक मिजाजीलाल ने माननीय मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट, शाहजहांपुर को भेंट किए। 400 तिरंगा कारागार मुख्यालय ,लखनऊ भेजे गए। तथा स्थानीय स्तर पर अनेकानेक संगठन व सामाजिक संस्थाओं को भी तिरंगा निशुल्क भेंट किए जा रहे हैं।हर घर तिरंगा उत्सव में अपने योगदान से कारागार के अधिकारीगण, स्टाफ व सभी बंदी अपने आप में गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। कारागार के अधिकारी, स्टाफ व 1600 से अधिक बंदी भी कारागार में निर्मित तिरंगे प्रयोग करेगें।