सामूहिक विवाह आयोजन की तैयारियां अंतिम चरण पर

लखनऊ । उप श्रमायुक्त रवि श्रीवास्तव ने बताया है कि दिनांक 18.03.2021 को मण्डल स्तरीय सामूहिक विवाह के आयोजन की तैयारियां अंतिम चरण पर है। आज कार्यक्रम स्थल का दौरा अपर मुख्य सचिव श्रम सुरेश चन्द्रा, जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश, मुख्य विकास अधिकारी प्रभाष कुमार के साथ पहुंच कर कार्यक्रम की तैयारियों का जायजा लिया।इस सामूहिक विवाह कार्यक्रम मे जनपद लखीमपुर खीरी के 471, हरदोई के 447 उन्नाव के 291, बाराबंकी के 102, सीतापुर के 349, रायबरेली के 815, तथा लखनऊ 1032 जोड़े वैवाहिक सूत्र मे बधेगें। कुल 3507 जोडो मे 3342 हिन्दू 165 मुस्लिम जोड़े है।हिन्दू जोड़ों की शादी मे जहा वैदिक मंत्र उच्चारित होगे वही मुस्लिम शादी मे कुबूल है की आवाज गूंजेगी।

कार्यक्रम मे श्रम विभाग उन बेटियों की भी शादी करा रहा है जिनके माता पिता अब इस दुनिया मे नही रहे। कुमारी शिव देवी, पूनम और संजना जो श्रम विभाग मे निर्माण श्रमिक के रूप मे पंजीकृत हैं उनके भाई बन्धु ने वर खोज कर इस सामूहिक विवाह मे शादी कराने का निर्णय लिया। इन बहनों को कल विवाह के दिन का बेसब्री से इतंजार है उन्हें खुशी इस बात की है कि उनके विवाह के साक्षी प्रदेश के मुखिया रहेंगे।  इसके आलावा उप मुख्यमंत्री डाॅ0 दिनेश शर्मा, श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य,  कानून मंत्री श्री  ब्रजेश पाठक, नगर विकास मंत्री आशुतोष टंण्डन राज्य मंत्री मन्नू कोरी, स्वाती सिंह, भी उपस्थित रहेगे।विवाह के अवसर पर वर वधू के साथ 10 लोगों को विवाह में सम्मिलित होने हेतु आमन्त्रित किया गया है।

इस प्रकार पूरे कार्यक्रम मे 35000 से अधिक लोग उपस्थित रहेंगे। इनके स्वागत के लिए जिला प्रशासन पुलिस प्रशासन, श्रम विभाग व अन्य विभाग के अधिकारी पलक पावॅडे़ बिछाये बैठे है। कार्यक्रम मे जहा बैण्डबाजो के साथ बरात की अगवानी होगी वही वैवाहिक अवसर पर गाए जाने वाले विवाह गीत की प्रस्तुति के लिए कलाकार भी रहेेंगे। कार्यक्रम मे मेहमानो के लिए स्वादिष्ट व्यजंन भी बनाये गये है। पण्डाल को 18 सेक्टरों मे बाटा गया है और जनपदवार अधिकारियांे की डियूटी व्यवस्था हेतु लगाई गयी है। श्रम विभाग द्वारा कन्या विवाह सहायता योजना के अन्तर्गत 55000 की धनराशि दी जाती है वही अन्र्तजातीय विवाह पर 65000 की धनराशि  और सामूहिक विवाह मे सम्मिलित होने पर 75000 की धनराशि दी जाती है।