योगी का पुलिस अधिकारियों को सख्त निर्देश अवैध वसूली किसी भी दशा में बर्दाश्त नहीं

10 करोड़ रु0 की लागत से अधिक एवं उससे कम लागत की निर्माणाधीन परियोजनाओं की नियमित रूप से मॉनीटरिंग सुनिश्चित की जाए, कार्यों में गुणवत्ता एवं समयबद्धता का विशेष ध्यान रखा जाए।जनपदों के जिलाधिकारी सम्भावित बाढ़ एवं सूखा के दृष्टिगत समुचित तैयारी रखें।मुख्यमंत्री ने जनपद वाराणसी में वाराणसी मण्डल के विकास कार्यों एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा की।जिन परियोजनाओं पर कार्य आरम्भ हो चुका है, उन्हें युद्ध स्तर पर अभियान चलाकर प्राथमिकता पर पूरा किया जाए।कोरोना टीके की प्रिकॉशन डोज लगवाने हेतु व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार कर मिशन मोड में पात्रता की श्रेणी में आने वाले शत-प्रतिशत लोगों को निःशुल्क प्रिकॉशन डोज लगवायी जाए।आई0जी0आर0एस0 पर प्राप्त होने वाले शिकायती प्रार्थना पत्रों का गुणवत्तापूर्ण एवं समयबद्ध ढंग से निस्तारण किया जाए।बड़े एवं शातिर अपराधियों के विरुद्ध कार्रवाई में कोई कोर-कसर न छोड़ी जाए।नगर आयुक्त को साफ-सफाई की व्यवस्था जानकारी प्राप्त करते हुए समुचित साफ-सफाई सुनिश्चित कराए जाने के निर्देश।

वाराणसी/लखनऊ। जनपद वाराणसी में वाराणसी मण्डल के विकास कार्यों एवं कानून व्यवस्था मुख्यमंत्री योगी ने की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जिन परियोजनाओं पर कार्य आरम्भ हो चुका है, उन्हें युद्ध स्तर पर अभियान चलाकर प्राथमिकता पर पूरा किया जाए। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही या शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। मण्डल के जनपदों के जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों से कहा कि कोविड-19 के दृष्टिगत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी पात्र लोगों से कोरोना टीके की प्रिकॉशन डोज लगवाने हेतु आह्वान किया है। इसलिए इसका व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार कर मिशन मोड में पात्रता की श्रेणी में आने वाले शत-प्रतिशत लोगों को निःशुल्क प्रिकॉशन डोज लगवायी जाए। जनपदों के जिलाधिकारी सम्भावित बाढ़ एवं सूखा के दृष्टिगत समुचित तैयारी रखें।


10 करोड़ रुपये की लागत से अधिक एवं उससे कम लागत की निर्माणाधीन परियोजनाओं की नियमित रूप से मॉनीटरिंग सुनिश्चित की जाए। कार्यों में गुणवत्ता एवं समयबद्धता का विशेष ध्यान रखा जाए। किसी भी स्तर पर सफलता एवं लापरवाही पाए जाने पर कार्यदायी संस्थाओं के विरुद्ध शीघ्र कार्रवाई सुनिश्चित की जाए। मनरेगा के अन्तर्गत 100 प्रतिशत बायोमीट्रिक कार्यवाही की जाए। किसी भी स्तर पर कोई लापरवाही न हो और किसी को भी असुविधा नहीं होनी चाहिए।


मुख्यमंत्री ने अवैध वसूली पर कड़ा रुख अख्तियार करते हुए पुलिस अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए कि अवैध वसूली किसी भी दशा में नहीं होनी चाहिए। पुलिस थाना, सी0ओ0 एवं एस0डी0एम0 स्तर से इस पर पूरी तरह निगरानी रखी जाए। ऐसे लोगों के विरुद्ध कठोर से कठोर कार्रवाई सुनिश्चित की जाए।जन शिकायती प्रार्थना पत्रों एवं आई0जी0आर0एस0 पर प्राप्त होने वाले शिकायती प्रार्थना पत्रों का गुणवत्तापूर्ण एवं समयबद्ध ढंग से निस्तारण किया जाए।

उन्होंने अधिकारियों को इसकी नियमित मॉनीटरिंग किए जाने के निर्देश दिए। शिकायती प्रार्थना पत्रों के निस्तारण में किसी भी दशा में शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सभी अधिकारी अपने-अपने कार्यालयों में समय से बैठें और जनता की समस्याओं को सुने और उसका प्राथमिकता पर निस्तारण सुनिश्चित करें। जनप्रतिनिधिगण क्षेत्र भ्रमण के दौरान जनता की समस्याओं को अवश्य सुनें और उसका निस्तारण सुनिश्चित करवाएं। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जनप्रतिनिधियों के साथ उनका नियमित संवाद होना चाहिए। जनप्रतिनिधियों के टेलीफोन अवश्य रिसीव किए जाएं।


मुख्यमंत्री ने कानून व्यवस्था की समीक्षा करते हुए कहा कि बड़े एवं शातिर अपराधियों के विरुद्ध कार्रवाई में कोई कोर-कसर न छोड़ी जाए। उन्होंने पुलिस अधिकारियों को ऐसे लोगों के विरुद्ध अभियान चलाकर कार्रवाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि विगत 05 वर्षों में निश्चित रूप से पुलिस की छवि सुधरी है, फिर भी अभी इसमें और सुधार की गुंजाइश है। पुलिस की छवि आम जनमानस में अच्छी रहे, इसके लिए छोटी से छोटी सूचनाओं को पूरी गम्भीरता से लिया जाए तथा त्वरित कार्रवाई सुनिश्चित की जाए। ‘हर घर तिरंगा’ कार्यक्रम के अन्तर्गत जनपदों के शहीद स्मारकों पर पुलिस एवं पी0ए0सी0 के बैण्ड बजाए जाएं।


नगर आयुक्त से साफ-सफाई की व्यवस्था की जानकारी प्राप्त करते हुए समुचित साफ-सफाई सुनिश्चित कराए जाने के मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए। उन्होंने जनप्रतिनिधियों द्वारा उठाए गए मुद्दों पर सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों को शीघ्रता से निस्तारण सुनिश्चित कराए जाने हेतु निर्देशित किया।इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने काशी विद्यापीठ विकास खण्ड के पंचायतीराज विभाग के सचिव श्री सतीश मौर्य, ग्राम प्रधान श्वेता राय, नगर निगम के सफाई व खण्ड निरीक्षक नृपेन्द्र सिंह, इण्डियन मेडिकल एसोसिएशन के सचिव राजेश्वर नारायण व इण्डियन डेण्टल एसोसिएशन के सचिव मनोज श्रीवास्तव एवं डॉ0 अमर अनुपम सहित पांच लोगों को राष्ट्रीय ध्वज देकर ‘हर घर तिरंगा’ कार्यक्रम की औपचारिक शुरुआत की।बैठक में श्रम एवं सेवायोजन मंत्री अनिल राजभर, स्टाम्प तथा न्यायालय शुल्क एवं पंजीयन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रवीन्द्र जायसवाल, आयुष राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) दयाशंकर मिश्र ‘दयालु’ सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना संजय प्रसाद तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने वाराणसी के सर्किट हाउस में जनप्रतिनिधियों से भेंट वार्ता की।